Covid-19 Update

2,18,202
मामले (हिमाचल)
2,12,736
मरीज ठीक हुए
3,650
मौत
33,652,745
मामले (भारत)
232,392,789
मामले (दुनिया)

J&K से 370 हटाने की आलोचना करने वाली ब्रिटिश सांसद को दिल्ली एयरपोर्ट से बैरंग लौटाया

J&K से 370 हटाने की आलोचना करने वाली ब्रिटिश सांसद को दिल्ली एयरपोर्ट से बैरंग लौटाया

- Advertisement -

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) से अनुच्छेद 370 हटाए जाने को लेकर भारत सरकार की आलोचना करने वाली ब्रिटेन की लेबर पार्टी की सांसद डेबी अब्राहम (Debbie Abrahams) को भारत आने से रोकने का फैसला करते हुए दिल्ली एयरपोर्ट (Delhi Airport) से ही वापस भेज दिया गया। वह दो दिन की यात्रा के लिए भारत पहुंची थीं। उनकी सहयोगी हरप्रीत उपल ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान बताया कि एयरपोर्ट पर अधिकारियों ने उनके वैध भारतीय वीजा को अस्वीकार कर दिया। रिपोर्ट्स के अनुसार सोमवार सुबह करीब 8:50 पर जब डेबी अब्राहम दिल्ली एयरपोर्ट पहुंचीं, तो उन्हें बताया गया कि उनका वीज़ा कैंसिल कर दिया गया है। हालांकि, ये वीज़ा अक्टूबर 2020 तक मान्य था।

यह भी पढ़ें: जयराम सरकार की Cabinet बैठक शुरू, सभी मंत्री मौजूद

वहीं भारत में एंट्री रद्द होने के मसले पर ब्रिटिश सांसद ने कहा, ‘हर किसी की तरह मैंने भी ई-वीज़ा के साथ डॉक्यूमेंट दिखाए, लेकिन एयरपोर्ट अथॉरिटी ने मना कर दिया। मुझे बताया गया कि मेरा वीजा कैंसिल हो गया है और वो मेरा पासपोर्ट लेकर कुछ देर के लिए चले गए।’ डेबी अब्राहम्स ने अपनी पोस्ट के जरिए कहा, ‘बाकी सभी लोगों के साथ मैंने भी इमिग्रेशन डेस्क पर अपने सभी दस्तावेजों को दिखाया था। उसमें मेरा ई-वीजा भी था। मेरी तस्वीर ली गई और फिर अधिकारियों ने स्क्रीन की ओर देखकर अपना सिर हिलाया। फिर उसके बाद उन्होंने मुझसे कहा कि मेरा वीजा रद्द कर दिया गया है। उन लोगों ने मेरा पासपोर्ट ले लिया और करीब 10 मिनट के लिए वह लोग वहां से गायब हो गए। जब वह वापस लौटे तो बेहद गुस्से में थे और मुझसे चिल्लाते हुए बोले कि मेरे साथ आओ।’

उन्होंने आगे कहा, ‘मैंने उनसे कहा कि मुझसे इस तरह से बात मत करो और फिर वह मुझे डिपोर्टी सेल की ओर ले गए। फिर उन्होंने मुझे बैठने के लिए कहा लेकिन मैंने मना कर दिया। मुझे नहीं पता था कि वह क्या कर रहे हैं या वह मुझे कहां ले जाएंगे, इसलिए मैं चाहती थी कि लोग मुझे देखें।’ डेबी अब्राहम्स ने आगे बताया कि उन्होंने एक रिश्तेदार को फोन किया और इस बारे में बताया। उसने ब्रिटिश हाई कमिश्नर को फोन किया और मामले की जानकारी लेने को कहा। उन्होंने आगे कहा कि अब मैं डिपोर्ट किए जाने का इंतजार कर रही हूं, जब तक भारत सरकार का हृदय परिवर्तन नहीं हो जाए। मैं बताने के लिए तैयार हूं कि मेरे साथ अपराधी की तरह व्यवहार किया गया। मुझे उम्मीद है कि वह लोग मुझे मेरे परिवार और दोस्तों से मिलने देंगे।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी Youtube Channel

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है