Covid-19 Update

2,05,499
मामले (हिमाचल)
2,01,026
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,526,589
मामले (भारत)
196,267,832
मामले (दुनिया)
×

BSNL के घाटे के चलते Himachal के एकमात्र ट्रेनिंग सेंटर पर लटका ताला

BSNL के घाटे के चलते Himachal के एकमात्र ट्रेनिंग सेंटर पर लटका ताला

- Advertisement -

सुंदरनगर। 26 वर्षों से बीएसएनएल (BSNL) कर्मचारियों को प्रशिक्षण प्रदान कर रहा हिमाचल का एकमात्र ट्रेनिंग सेंटर (Training Center) घाटे में चल रहे बीएसएनएल के चलते बंद हो गया है। सुंदरनगर में स्थापित भारत संचार निगम लिमिटेड पर ताला लग गया है। 1994 में बीबीएमबी कालोनी में स्थापित यह ट्रेनिंग सेंटर करीब 26 वर्षों से बीएसएनएल कर्मियों को ट्रेनिंग की सुविधा प्रदान कर रहा था। इसके बंद होने से अब कर्मचारियों को ट्रेनिंग के लिए हिमाचल से बाहर जयपुर, राजपुरा और जबलपुर जाना होगा। ट्रेनिंग सेंटर बंद (Closed) होने के कारण बीएसएनएल पर पड़ रहे अतिरिक्त वित्तीय बोझ (Additional financial burden) को कम करना बताया जा रहा है। इसी वर्ष पहली फरवरी को इस ट्रेनिंग सेंटर को बंद कर दिया गया।

यह भी पढ़ें: कांगड़ा की पंचायतें रहें अलर्ट,टांडा फील्ड में कल से होगी Firing

महाप्रबंधक ने कहा- अब इस ट्रेनिंग सेंटर की जरुरत नहीं

अब खाली पड़े ट्रेनिंग सेंटर के भवन को किसी सरकारी या गैर सरकारी कंपनी को किराए पर देने की बात की जा रही है। 26 वर्षों की इस अवधि में ट्रेनिंग सेंटर में हिमाचल के साथ ही बाहरी राज्यों से भी कई कर्मचारी यहां पर प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके हैं। इस ट्रेनिंग सेंटर में वरिष्ठ दूरसंचार कार्यालय सहायक, जेई, टेलीकॉम टैक्निशियन, सहायक टेलीकॉम टैक्निशियन, चपरासी और ऑनलाइन अपग्रेडेशन ट्रेनिंग होती थी। लेकिन अब उन्हें यह सुविधा हिमाचल में नहीं मिल पाएगी। बीएसएनएल शिमला के महाप्रबंधक बलविंद कुमार ने पुष्टी करते हुए बताया की अब इस ट्रेनिंग सेंटर की जरुरत नहीं है। ट्रेनिंग के लिए जयपुरए राजपुरा और जबलपुर में ट्रेनिंग सेंटर हैं। कर्मचारियों की वीआरएस के बाद अब इसकी जरूरत नहीं रह गई है। इसलिए इसे बंद करने का फैसला लिया गया है।


यह भी पढ़ें: Himachal पहुंचा मानसूनः जमकर बरसे मेघ, 6 जिलों में Orange Alert

देश में 85 हजार कर्मियों को दी गई है वीआरएस

देश में करीब 85 हजार कर्मचारियों को स्वैच्छिक सेवानिवृति दी गई है। हिमाचल में यह संख्या 12 हजार के करीब है। बीएसएनएल अतिरिक्त खर्चों को कम करने के लिए कर्मचारियों को वीआरएस दी गई। इसी के तहत इस ट्रेनिंग सेंटर को भी बंद किया गया है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है