Covid-19 Update

58,607
मामले (हिमाचल)
57,331
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,096,731
मामले (भारत)
114,379,825
मामले (दुनिया)

Budget session में दिखेगा जीत का असर

Budget session में दिखेगा जीत का असर

- Advertisement -

शिमला। देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में मिली प्रचंड जीत से लबरेज बीजेपी हिमाचल में अब और आक्रामक भूमिका में नजर आएगी। वैसे कांग्रेस को पंजाब में मिली जीत से कुछ सहारा जरूर मिला है, लेकिन वहां पर बीजेपी की ताकत कुछ खास नहीं थी। ऐसे में हिमाचल विधानसभा में उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और पंजाब की जीत की गूंज सुनाई देगी और इसे लेकर बीजेपी और कांग्रेस दोनों एक-दूसरे पर और हमलावर होंगी, लेकिन आक्रामक भूमिका में बीजेपी अधिक दिखाई देगी।

  • आक्रामक भूमिका में दिखेगी बीजेपी व कांग्रेस
  •  भोरंज उपचुनाव के लिए बनेगी रणनीति

विधानसभा में बजट पेश हो चुका है और कांग्रेस अपना दांव खेल चुकी है। कांग्रेस चुनावी वर्ष में लोगों को कई तोहफों की घोषणा कर चुकी है और इसके बूते वह जनता के बीच जाएगी और फिर से उन्हें सत्तासीन करने का आग्रह करेगी। वहीं बीजेपी अब आक्रामक रूप से हमलावर होगी। सत्ताधारी कांग्रेस को उनकी घोषणाओं पर घेरने का प्रयास करेगी। बीजेपी के उस नारे की सदन में भी गूंज सुनाई देगी, जो वह सदन से बाहर बोलती रही है। वह है कांग्रेस मुक्त भारत का नारा और अब बजट सत्र के दौरान होने वाली चर्चा में इसकी गूंज सुनाई देगी। बीजेपी यूपी औ उत्तराखंड के परिणामों का हवाला देकर अब यहां भी कमल खिलाने का दावा करेगी।

प्रदेश में इस साल विधानसभा चुनाव होने हैं, लेकिन इससे पहले भोरंज विधानसभा का अहम उपचुनाव होना है। यह उपचुनाव पूर्व शिक्षा मंत्री ईश्वरदास धीमान के देहांत के चलते हो रहा है। उनका देहांत पिछले वर्ष नवंबर माह में हुआ था। इस चुनाव को लेकर दो दिन बाद यानी 14 मार्च से प्रक्रिया शुरू होगी। उस दिन ही नामांकन भरे जाने हैं। भोरंज उपचुनाव से पहले आए इन चुनावी नतीजों ने बीजेपी के मनोबल को बढ़ाया है और इनके नेताओं का जोश बढ़ा है। इसी जोश से बीजेपी इस उपचुनाव में प्रचार के लिए उतरेगी और इससे रोचक मुकाबला देखने को मिलेगा।  उधर कांग्रेस भी पंजाब से मिली आक्सीजन के बूते बीजेपी पर हमलावर तेवर दिखाएगी। कांग्रेस नेता पंजाब की जीत को हिमाचल के लिए अच्छे संकेत मानते हुए बीजेपी को कठघरे में खड़ा करने का प्रयास करेगी और फिर से यहां सरकार बनाने की बात करेगी। हिमाचल में सीएम वीरभद्र सिंह पर ही प्रचार का दारोमदार है और उनके प्रचार की शैली का बीजेपी के पास कोई वार नहीं है। बीजेपी पीएम मोदी लहर और भोरंज सीट पर पहले की तरह अपना कब्जा जमाए रखने का प्रयास करेगी। कुल मिलाकर, बीजेपी और कांग्रेस दोनों के बीच भोरंज उपचुनाव के लिए जंग तेज होना तय है और इसकी झलक विधानसभा के बजट सत्र में दिखाई देगी।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है