Covid-19 Update

2,00,832
मामले (हिमाचल)
1,95,254
मरीज ठीक हुए
3,440
मौत
30,028,709
मामले (भारत)
179,981,557
मामले (दुनिया)
×

चांद पर पेशाब करने वाला ये है दुनिया का पहला इंसान- कैसे हुआ था ये सब

बज एल्ड्रिन के स्पेस सूट में रखे एक खास बैग से निकला था पेशाब

चांद पर पेशाब करने वाला ये है दुनिया का पहला इंसान- कैसे हुआ था ये  सब

- Advertisement -

क्या आप जानते हैं कि चांद पर सबसे पहले किसने (Urine) पेशाब किया था। आपको लग रहा होगा कि ये कैसा सवाल है,लेकिन ऐसा हुआ था। पेशाब करने वाले अंतरिक्ष यात्री कुछ पल के लिए डर गए,लेकिन फिर सब ठीक हो गया। ये अलग बात है कि ये भी रिकार्ड बन गया। जिसे आज तक याद किया जाता है। उस अंतरिक्ष यात्री का नाम (Buzz Aldrin) बज एल्ड्रिन है,इन्होंने 20 जुलाई 1969 को चांद की सतह पर लैंडिंग की थी। दरअसल उन्होंने ऐसा जानबूझकर नहीं किया बल्कि स्पेस सूट में रखे एक खास बैग (Special Bag) से पेशाब निकलकर चांद पर फैल गया था। इससे वह भी कुछ पल के लिए घबरा गए थे।

यह भी पढ़ें: दुनिया का है ये वो देश जहां आसमान से होती है आग की बारिश


खैर किस्सा चांद के सफर का यूं शुरू होता है,अपोलो 11 के मिशन पर गए (Neil Armstrong) नील आर्मस्ट्रांग,माइकल कॉलिंस और बज एल्ड्रिन ने 20 जुलाई 1969 को चांद की सतह (Lunar Surface) पर लैंडिंग की थी। नील आर्मस्ट्रांग ने अपना पहला कदम बाहर निकाला और इसी के साथ वह चांद पर पहुंचने वाले दुनिया के पहले इंसान बन गए। नील आर्मस्ट्रॉन्ग के बाद बज एल्ड्रिन ने भी चांद पर अपना कदम रखा। भले ही बज एल्ड्रिन ने चांद पर सबसे पहले कदम रखने का रिकॉर्ड नहीं बनाया लेकिन वह पहले ऐसे इंसान बन गए जिसने चांद पर पेशाब किया।

 

यह भी पढ़ें: 50 लाख से ज्यादा इंसानों की लाशें दफन हैं यहां-जाने डिटेल एक क्लिक पर

एल्ड्रिन ने जानबूझकर ऐसा नहीं किया था जब वह अपोलो 11 लैंडर (Apollo 11 lander) की सीढ़ी से उतरने की कोशिश कर रहे थे उसी वक्त उनके स्पेस सूट में रखे एक खास बैग से पेशाब निकलकर चांद पर फैल गया (Spread on the Moon) था। एल्ड्रिन ने ल्यूनर मॉड्यूल की बहुत धीरे से लैंडिंग की जिससे मॉड्यूल जरूरत के हिसाब से सिकुड़ नहीं सका। नतीजा यह हुआ कि ल्यूनर मॉड्यूल से चांद की सतह तक जो एक छोटा कदम होता वह एक छलांग में बदल गया। लैंडिंग के बाद इस झटके की वजह से एल्ड्रिन ने जो पेशाब इकठ्ठा करके एक डिवाइस में रखी थी, वह टूट गई और एक बूट्स पर गिर गई। जब एल्ड्रिन चांद की सतह पर चले तो ये वहां भी फैलता गया। हालांकि,कुछ पलों के लिए उनकी सांसे सूख गई,पर कुछ ही पल में ठीक हो गया।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है