×

आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों को आरक्षण के लिए आय सीमा तय, सामाजिक सुरक्षा पेंशन बढ़ी

आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों को आरक्षण के लिए आय सीमा तय, सामाजिक सुरक्षा पेंशन बढ़ी

- Advertisement -

शिमला। कैबिनेट की बैठक (Cabinet Meeting) में सरकारी क्षेत्र में क्लास 1, 2, 3 और 4 पदों पर समाज के आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण प्रदान करने का निर्णय लिया। इस निर्णय से उन उम्मीदवारों को लाभ मिलेगा, जिनकी पारिवारिक सकल आय 4 लाख रुपए से कम है। साथ ही अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षण की किसी मौजूदा योजना के तहत लाभाविंत नहीं होंगे। वहीं, इस वित्त वर्ष में मुख्यमंत्री रोशनी योजना (CM Roshni Yojana) के तहत 17550 गरीब परिवारों को बिजली कनेक्शन उपलब्ध करवाने को लेकर भी सहमति दी है।


यह भी पढ़ेंः कैबिनेटः पीजीटी पॉलिटिकल साइंस और टीजीटी कंप्यूटर साइंस के पद सृजित

इसकी घोषणा सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) ने बजट (Budget) में की थी। कैबिनेट ने मार्केट इंटरवेंशन स्कीम (MIS) के तहत खट्टे फलों जैसे किन्नू, माल्टा, संतरा और गलगल के खरीद मूल्य को मौजूदा समर्थन मूल्य से 50 पैसा प्रति किलो बढ़ाने को मंजूरी प्रदान की है। राज्य के विभिन्न हिस्सों में 54 खरीद केंद्र खोले जाएंगे, जो 21 नवंबर, 2019 से 15 फरवरी, 2020 तक कार्यशील रहेंगे।

यह भी पढ़ें: कैबिनेट में चर्चाः स्वास्थ्य सहभागिता योजना में सरकार कर सकती है बड़ा बदलाव

हिमाचल में सामाजिक सुरक्षा पेंशन बढ़ी

कैबिनेट ने सामाजिक सुरक्षा पेंशन में बढ़ोतरी को भी मंजूरी दी है। वृद्धावस्था, विधवा, बेसहारा, विकलांगों व कुष्ठरोगियों को दी जाने वाली पेंशन बढ़ाई है। इसे 750 से 850 कर दिया गया है। साथ ही 70 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को अब 1300 की जगह 1500 प्रति माह पेंशन मिलेगी। यह वृद्धि 1 जुलाई से लागू होगी।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है