Covid-19 Update

2,05,383
मामले (हिमाचल)
2,00,943
मरीज ठीक हुए
3,502
मौत
31,470,893
मामले (भारत)
195,725,739
मामले (दुनिया)
×

प्राइवेट जॉब करने वाले हिमाचलियों के बच्चों को डेंटल कॉलेज में दाखिले को लेकर क्या बोली सरकार

प्राइवेट जॉब करने वाले हिमाचलियों के बच्चों को डेंटल कॉलेज में दाखिले को लेकर क्या बोली सरकार

- Advertisement -

धर्मशाला। हिमाचल के स्थाई निवासी जोकि निजी सेवाओं में कार्यरत हैं और उनके बच्चों की समूची शिक्षा प्रदेश से बाहर अन्य राज्यों से हुई है, उन्हें एनईईटी (NEET) की वरीयता सूची के आधार पर हिमाचल प्रदेश के राजकीय आर्युविज्ञान एवं दंत महाविद्यालयों के दाखिले की अनुमति का विषय प्रदेश सरकार के विचाराधीन है। यह जानकारी सुजानपुर के विधायक राजेंद्र राणा के पूछे प्रश्न के जवाब में स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार ने विधानसभा में दी। प्रदेश के स्थाई निवासी जोकि सरकारी सेवाओं में कार्यरत हैं और उनके बच्चों की समूची शिक्षा प्रदेश से बाहर अन्य राज्यों से हुई है, उन्हें एनईईटी (NEET) की वरीयता सूची के आधार पर हिमाचल प्रदेश के राजकीय आर्युविज्ञान एवं दंत कॉलेज में दाखिले की अनुमति कुछ शर्तों के आधार पर प्रदान की जाती है। बोनाफाईड हिमाचली जोकि केंद्र सरकार में कार्यरत हैं।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस Link पर Click करें… 


केंद्रीय सरकार द्वारा स्थापित उपक्रम एवं स्वायत्त निकायों के साथ कार्यरत कर्मचारियों के बच्चे भी राज्य कोटा की सीटों में प्रवेश के लिए हिमाचल प्रदेश में स्थित विद्यालयों से स्कूली शिक्षा हेतू शर्त में छूट प्राप्त कर सकते हैं, बशर्ते ऐसे कर्मचारी 12 या इसके समकक्ष उत्तीर्ण वर्ष 1 जनवरी या उससे पहले लगभग लगातार तीन वर्ष की अवधि तक हिमाचल प्रदेश से बाहर कार्यरत या तैनात हों। बोनाफाईड हिमाचलियों के बच्चे जोकि राज्य से बाहर अन्य राज्य सरकारों स्वायत्ता के उपक्रमों जोकि अन्य राज्य सरकारों द्वारा स्थापित हैं भी राज्य कोटा सीटों के लिए पात्र होंगे बशर्ते उनके बच्चे उस राज्य में राज्य कोटा की सीटों के लिए पात्र नहीं होंगे जिस राज्य से वे कार्यरत हैं। इस संदर्भ में अभ्यर्थी को संबंधित राज्य के चिकित्सा शिक्षा निदेशक द्वारा जारी किया गया प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना जरूरी होगा। बोनाफाईड हिमाचलियांे के बच्चे जोकि भारतीय रक्षा सेवा में कार्यरत हैं। भूतपूर्व सैनिक हैं। अर्धसैनिक बलों में कार्यरत हैं, राज्य कोटे की सीटों की पात्रता के लिए बिना किसी शर्त के स्कूली शिक्षा में छूट है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है