Covid-19 Update

2,00,043
मामले (हिमाचल)
1,93,428
मरीज ठीक हुए
3,413
मौत
29,821,028
मामले (भारत)
178,386,378
मामले (दुनिया)
×

हिमाचल में धर्म परिवर्तन का मामला, पुलिस ने दर्ज किया केस

हिमाचल में धर्म परिवर्तन का मामला, पुलिस ने दर्ज किया केस

- Advertisement -

बद्दी। प्रदेश से इन दिनों जबरन धर्म परिवर्तन कराए जाने की खबरें सामने आ रही हैं। ताजा मामला औद्योगिक क्षेत्र बद्दी का है। जहां हिंदू धर्म के एक व्यक्ति को पैसा देकर जबरन इसाई धर्म अपनाने को मजबूर किया जा रहा है। यही नहीं पीड़ित की पत्नी भी उसे और उसके दो बच्चों को ईसाई धर्म अपनाने को मजबूर कर रही है। व्यक्ति ने इसके खिलाफ बद्दी पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई है। पुलिस ने गंभीर धाराओं के तहत मामला दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नरेश कुमार शर्मा ने बताया कि पीड़ित विश्वनाथ पुत्र भोला शाह निवासी किरायेदार गांव हरिपुर संडोली तहसील बद्दी जिला सोलन में पिछले 20 सालों से अपनी पत्नी मीना और दो बच्चों के साथ रह रहा है। विश्वनाथ की पत्नी मीना लगभग पिछले 2 वर्षों से चर्च जा रही है, लेकिन अब उसकी पत्नी मीना पादरी राजेंद्र सिंह निवासी फगवाड़ा पंजाब के साथ मिलकर विश्वनाथ और उसके दोनों बच्चों को ईसाई धर्म अपनाने के लिए दबाव बना रही है।


पादरी राजेंद्र सिंह ने उसे पैसों का लालच भी दिया है और अधिक से अधिक लोगों को ईसाई धर्म से जोड़ने को कह रहा है। पीड़ित की पत्नी ने पादरी के कहने पर विश्वनाथ के घर से सभी मूर्तियां व भगवान के चित्र, मन्दिर सहित घर से बाहर फेंक दिए हैं। इससे विश्वनाथ की आध्यात्मिक आस्था को बहुत ठेस पंहुची है। एएसपी ने बताया कि इस पर पुलिस ने धारा 295, 120बी के तहत थाना बद्दी में मामला दर्ज कर लिया है।

सरकारी कर्मचारी का डेपूटेशन हो रद्द

वहीं, दूसरी ओर इस मामले में मीडिया से बातचीत करते हुए क्षेत्रिय धर्म जागरण प्रमुख एडवोकेट संदीप सचदेवा व बद्दी जनहित मोर्चा के अध्यक्ष संजीव कौशल ने पुलिस कार्रवाई को उचित करार दिया है। उन्होंने कहा कि बद्दी में यह धंधा बहुत दिनों से चल रहा है, जिसकी जांच सीआईडी को करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि धर्म परिवर्तन के इस सारे गोरखधंधे को शिक्षा विभाग की एक सरकारी कर्मचारी अंजाम दे रही है। इसकी मूल ड्यूटी धर्मशाला में है, जबकि डेपूटेशन पर आकर बद्दी में यह ऐसा घिनौना काम कर रही है। उन्होंने सीएम जयराम और शिक्षामंत्री से महिला कर्मचारी की डेपूटेशन रद्द करने की मांग की है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है