Covid-19 Update

2, 45, 811
मामले (हिमाचल)
2, 29, 746
मरीज ठीक हुए
3880*
मौत
5,565,748
मामले (भारत)
331,807,071
मामले (दुनिया)

पंचतत्व में विलीन हुए सीडीएस बिपिन रावत, बेटियों ने दी मुखाग्नि, 17 तोपों की दी गई सलामी

सीडीएस जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी का दिल्ली कैंट के बरार स्क्वायर श्मशान घाट हुआ अंतिम संस्कार

पंचतत्व में विलीन हुए सीडीएस बिपिन रावत, बेटियों ने दी मुखाग्नि, 17 तोपों की दी गई सलामी

- Advertisement -

नई दिल्ली। देश के सबसे बड़े सैन्यअधिकारी चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत (CDS General Bipin Rawat) और उनकी पत्नी मधुलिका रावत पंचतत्व में विलीन हो गए। सेना की मातमी धुन और 17 तोपों की सलामी के बीच जनरल रावत की बेटी कृतिका और तारिणी ने पूरे रीति रिवाज से अंतिम संस्कार (cremated) किया। दोनों बेटियों ने मुखाग्नि दी। तीनों सेनाओं के जवानों द्वारा 17 तोपों की सलामी के साथए भारत के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफए जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत का अंतिम संस्कार शुक्रवार को दिल्ली छावनी के बरार स्क्वायर में पूरे सैन्य सम्मान के साथ किया गया। तीनों सेनाओं के बिगुलरों ने “लास्ट पोस्ट” और उसके बाद राउज’ बजाया। दिल्ली छावनी स्थित बरार स्क्वेयर अंत्येष्टि स्थल पर जनरल रावत और उनकी पत्नी के पार्थिव शरीर को उनकी बेटी ने मुखाग्नि दी, जिसके बाद दोनों की पार्थिव देह पंचतत्व में विलीन हो गईं।

यह भी पढ़ें: दिल्ली पहुंचे 13 शहीदों के पार्थिव शरीर, PM मोदी ने दी श्रद्धांजलि

इससे पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defense Minister Rajnath Singh) ने श्मशान घाट पर पुष्पांजलि अर्पित की और दिवंगत रावत दंपति को श्रद्धांजलि दी। सिंह ने एक ट्वीट में कहाए ष्जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत को अंतिम श्रद्धांजलि दी। जनरल रावत ने देश की सेवा और रक्षा के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया। भारत उनके साहस, वीरता और देशभक्ति को याद रखेगा।

 

 

बुधवार को तमिलनाडु के कुन्नूर के पास भारतीय वायुसेना के हेलिकॉप्टर के दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद जनरल रावत, उनकी पत्नी और 11 अन्य सशस्त्र बलों के जवानों की मौत हो गई थी। इससे पहले के. कामराज रोड स्थित दिवंगत जनरल के आवास से दिल्ली छावनी तक अंतिम संस्कार जुलूस निकाला गया। भारत के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ की अंतिम यात्रा की एक झलक पाने के लिए जुलूस के दौरान सैकड़ों लोग सड़क के दोनों ओर खड़े नजर आए।

यह भी पढ़ें: राजनाथ सिंह ने संसद में सीडीएस हेलिकॉप्टर क्रेश की जानकारी, जांच के आदेश भी दिए

थल सेना नौसेना और वायु सेना के सभी रैंकों के कुल 99 अधिकारी और ट्राई.सर्विसेज बैंड के 33 सदस्य फ्रंट एस्कॉर्ट थेए जबकि तीनों सेनाओं के सभी रैंकों के 99 अधिकारियों ने रियर एस्कॉर्ट के रूप में काम किया। ब्रिगेडियर और समकक्ष रैंक के थल सेनाए नौसेना और वायु सेना के 12 अधिकारी सतर्कता बनाए रखने के लिए खासतौर पर ड्यूटी पर रहे।

 

 

मित्र देशों से भी कई वरिष्ठ सैन्य कमांडर जनरल रावत और उनकी पत्नी के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए दिल्ली पहुंचे। इससे पहले दिन में, गृह मंत्री अमित शाह, कांग्रेस नेता राहुल गांधी, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, केंद्रीय मंत्री महेंद्र नाथ पांडे और कई अन्य लोगों ने जनरल रावत और उनकी पत्नी को दिल्ली में उनके आवास पर श्रद्धांजलि दी। दुखद दुर्घटना के एक अन्य शिकार ब्रिगेडियर एलण् एसण् लिद्दर का भी बरार स्क्वायर में पूरे सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है