Covid-19 Update

2,01,054
मामले (हिमाचल)
1,95,598
मरीज ठीक हुए
3,446
मौत
30,082,778
मामले (भारत)
180,423,381
मामले (दुनिया)
×

नाचन में संदेह के घेरे में देवदार के पेड़ों का कटान, आखिर आरा मशीन पर क्यों छोड़ी लकड़ी

नाचन में संदेह के घेरे में देवदार के पेड़ों का कटान, आखिर आरा मशीन पर क्यों छोड़ी लकड़ी

- Advertisement -

संजीव कुमार/गोहर। वनमंडल नाचन तांदी बीट में देवदार की लकड़ी के कथित अवैध कटान (Illegal cutting) के मामले ने वन विभाग (Forest Department) की कार्यप्रणाली सवालों के घेरे में ला दी है। शिकायतकर्ता ने बिना अनुमति देवदार के पेड़ों को काटे जाने की शिकायत पुलिस और वन विभाग के आलाधिकारियों से की है। शिकायतकर्ता का आरोप है कि लकड़ी को ठिकाने लगाने के लिए इसे आरा मशीन पर छोड़ा गया है। उधर, वन विभाग (Forest Department) की माने तो देवदार के पांच पेड़ तेज हवा के कारण गिर गए थे। जंगल से लकड़ी चोरी ना हो जाए इसके लिए इन्हें स्टोर में रखने का निर्णय लिया था। इसमें लकड़ी कुछ बड़े मोछे थे, जिन्हें स्टोर तक पहुंचाना मुश्किल था। उन्हें आरा मशीनों में स्लीपर निकालने के लिए छोड़ा गया है। वहीं, पुलिस ने शिकायत मिलने के बाद मामला दर्ज कर लिया है।

यह भी पढ़ें: Kullu में वन माफिया के हौंसले बुलंद, अब त्रिलोकपुर में विभाग की टीम पर पत्थरों से हमला

 


शिकायतकर्ता फते सिंह ने पुलिस को दी गई लिखित शिकायत में आरोप लगाया है कि तांदी बीट के अंतर्गत जुलाहा के समीप वन विभाग ने बिना एफआरए (FRA) स्वीकृत के व लॉकडाउन के दौरान जेसीबी मशीन से रास्ते के नाम पर सड़क का निर्माण कर दिया है। जहां दर्जनों देवदार के हरे विशालकाय पेड़ों को बिना अनुमति के तहस-नहस कर डाला है। हरे देवदार के विशालकाय पेड़ों के हवा से गिरने पर भी संदेह जताया है। शिकायतकर्ता का आरोप है कि विभाग ने देवदार के जिन मोछो को आरा मशीन पर स्लीपर निकालने के लिए उतारा गया है उस पर भी सवाल खड़े होते हैं। आरा मशीन 14 इंच तक की लकड़ी का चरान कर सकती है। जबकि लकड़ी के मोछो के घेरे का साइज पांच फीट से अधिक आंका गया है।

यह भी पढ़ें: कोरोना संकट के बीच Himachal के तीनों Cement Plants को उत्पादन की मंजूरी

उधर, वन मंडलाधिकारी नाचन तीर्थराज धीमान ने कहा है कि विभाग ने जिन लकड़ी के 46 नगों को स्टोर तक पहुंचाया है, बाकायदा चालान काटकर वाहन के माध्यम से लाया है। 17 मोछों का अधिक बजन होने के कारण स्टोर तक ना पहुंचने की बजह से आरा मशीन में उतारा है, जिनका चरान करने के बाद स्टोर जमा कर दिया जाएगा। पुलिस थाना प्रभारी सूरम सिंह धीमान ने मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि पुलिस ने मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है