- Advertisement -

हिमाचल के सरकारी स्कूलों में नर्सरी और केजी क्लासेस को केंद्र की मंजूरी

center clears opening of nursery and kg classes in govt school in himachal

0

- Advertisement -

शिमला। समग्र शिक्षा अभियान के लिए केंद्र से हिमाचल प्रदेश को इस साल 400 करोड़ रुपए ज्यादा मिले हैं। लेकिन यह रकम राज्य सरकार की जरूरत से 150 करोड़ रुपए कम है। हिमाचल सरकार ने 950 करोड़ रुपए केंद्र से शिक्षा के लिए मांगे थे। इसके जवाब में केंद्र ने राज्य के सरकारी स्कूलों में नर्सरी और केजी कक्षाओं के लिए अलग से फंड देने को हरी झंडी दे दी है।

बुधवार को दिल्ली में समग्र शिक्षा अभियान के तहत हुई बैठक में यह फैसला लिया गया। प्रदेश के 80 सरकारी स्कूलों में वोकेशनल शिक्षा के तहत तीन नए विषय शुरू करने और कंप्यूटर शिक्षा देने के लिए 125 सरकारी स्कूलों में आईसीटी लैब बनाने को भी हरी झंडी दी गई है। हिमाचल के शिक्षा सचिव अरुण कुमार शर्मा ने बताया कि सर्व शिक्षा अभियान, राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान और टीचर ट्रेनिंग को मिलाकर अब समग्र शिक्षा अभियान बना दिया गया है।

केंद्र से मिले बजट से हिमाचल में नवीं से जमा दो कक्षा वाले 80 सरकारी स्कूलों में वोकेशनल शिक्षा के तहत नए कोर्स शुरू किए जाएंगे। इन स्कूलों में विद्यार्थियों को टेलरिंग, ब्यूटिशियन, प्लंबरिंग और मल्टी स्किल का प्रशिक्षण दिया जाएगा। विद्यार्थियों को रोजगार आधारित शिक्षा देने के लिए केंद्र सरकार ने प्रस्ताव को मंजूरी दी है। साल 2017-18 के दौरान हिमाचल ने 834 करोड़ के बजट की केंद्र सरकार से मांग की थी। केंद्र ने 408 करोड़ रुपये का बजट स्वीकृत किया था।

- Advertisement -

Leave A Reply