Expand

JOB से नहीं निकाले जाएंगे मध्य जलागम परियोजना कर्मी

JOB से नहीं निकाले जाएंगे मध्य जलागम परियोजना कर्मी

- Advertisement -

 शिमला। वनमंत्री ठाकुर सिंह भरमौरी ने कहा है कि मध्य जलागम परियोजना में कार्य कर रहे कर्मचारियों को इस प्रोजेक्ट के पूरा होने के बाद नौकरी से नहीं निकाला जाएगा। इन कर्मचारियों को वन विभाग की चल रही विभिन्न परियोजनाओं में कार्य दिए जाएंगे। उनका कहना है कि वानिकी कार्यों के लिए 1400 करोड़ रुपए की नई परियोजना भी स्वीकृति के लिए भेजी गई है और मध्य जलागम परियोजना की तरह इस परियोजना में प्रदेशभर में कार्य किए जाएंगे। वे आज वन विभाग के उच्चाधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक में बोल रहे थे।  भरमौरी ने बैठक में वन विभाग द्वारा चलाई जा रही विभिन्न परियोजनाओं के बारे में चर्चा की। इस दौरान उन्होंने मध्य जलागम योजना के अधिकारियों को निर्देश दिए कि जलागम योजना द्वारा चलाए जा रहे कार्यों को जल्द से जल्द पूरा किया जाए। उनका कहना था कि यह परियोजना 31 मार्च, 2017 को समाप्त हो रही है। ऐसे में इस परियोजना के बचे हुए कार्यों को जल्द पूरा किया जाए। इस परियोजना की अवधि 31 मार्च 2016 bhamouriको पूरी हो गई थी, लेकिन सरकार के प्रयासों से इसे एक वर्ष की अवधि और मिली।

  • मध्य जलागम परियोजना की बैठक में भरमौरी का आश्वासन
  • कर्मचारियों को वन विभाग की अन्य परियोजनाओं में दिया जाएगा काम
  • जलागम योजना के तहत चलाए कार्यों को जल्द पूरा करने के निर्देश

वनमंत्री ने कहा कि इस वर्ष के लगभग 65 कार्य परियोजना द्वारा किए जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि इस परियोजना के सभी कर्मचारियों को विभाग में चल रही विभिन्न परियोजनाओं में कार्य दिए जाएंगे और किसी भी कर्मचारी को नौकरी से नहीं हटाया forestजाएगा। उन्होंने कहा कि जर्मन सरकार व जर्मन बैंक द्वारा प्रायोजित परियोजना भी चंबा और कांगड़ा जिला में शुरू की गई है। बैठक में इस परियोजना की भी समीक्षा की गई। भरमौरी ने कहा कि जल्द ही जमीनी स्तर पर इस पर कार्य अमल में लाए जाएंगे। इसे स्थानीय लोगों को रोजगार मिलेगा और लैटाना उन्नमूलन के बाद पौधरोपण से प्रदेश और अधिक हराभरा होगा।

उन्होंने कहा कि कांर्बन क्रैडिट द्वारा 1.63 करोड़ रुपए प्रदेश को पहले ही मिल चुका है और भविष्य में भी अगर हम हरित आवरण बढ़ाने में सफल होते हैं, तो प्रदेश सरकार के लोगों और समुदायों को और अधिक निधि मिलेगी। बैठक में वन निगम के उपाध्यक्ष केवल सिह पठानिया, प्रधान मुख्य अरण्यपाल एसएस नेगी, मुख्य परियोजना अधिकारी अवतार सिंह, अतिरिक्त प्रधान मुख्य अरण्यपाल विनीत कुमार, समेत कई अधिकारी मौजूद थे। 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है