Covid-19 Update

2,05,017
मामले (हिमाचल)
2,00,571
मरीज ठीक हुए
3,497
मौत
31,341,507
मामले (भारत)
194,260,305
मामले (दुनिया)
×

RTI में लापरवाही बरतने पर केंद्रीय सूचना आयोग सख्त, आईआईटी प्रबंधन को दी चेतावनी

RTI में लापरवाही बरतने पर केंद्रीय सूचना आयोग सख्त, आईआईटी प्रबंधन को दी चेतावनी

- Advertisement -

मंडी। आईआईटी मंडी ( IIT Mandi)के पूर्व कर्मचारी व सामाजिक कार्यकर्ता सुजीत स्वामी द्वारा आईआईटी मंडी प्रबंधन से मांगी गई आरटीआई( RTI)में लापरवाही बरतने पर केंद्रीय सूचना आयोग ने कड़ा संज्ञान लिया है। केंद्रीय सूचना आयोग ने आईआईटी मंडी के प्रबंधन को सुजीत स्वामी द्वारा मांगी गई सूचना के एवज में अतिरिक्त शुल्क वसूलने का संज्ञान पांच दिनों के भीतर लेने के आदेश दिए हैं। इसके अलावा आयोग ने लोक सूचना अधिकारी को सख्त चेतावनी दी कि भविष्य में कभी भी प्रथम अपील अधिकारी की ओर से प्रथम अपील का निस्तांतरण नहीं किया जाना चाहिए।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी YouTube Channel… 


आयोग ने आईआईटी प्रबंधन ( IIT Management)को लोक सूचना अधिकारी से वरिष्ठ अधिकारी को प्रथम अपील अधिकारी नामित करने की हिदायत दी है। इसके साथ ही आयोग ने आईआईटी मंडी प्रबंधन को इस पूरे मामले में आदेशों की गंभीरता से पालना व बीस दिनों के भीतर रिपोर्ट तलब की है। आयोग ने इस मामले के अलावा अन्य तीन मामलों में लापरवाही बरतने पर स्पष्टीकरण भी आईआईटी मंडी प्रबंधन से मांगा है। बता दें कि आईआईटी मंडी के पूर्व कर्मचारी एवं सामाजिक कार्यकर्ता सुजीत स्वामी ने 13 जून 2018 को सूचना के अधिकार के तहत आई आईटी मंडी में एक एप्लीकेशन दायर की थी। जिसमें 6 सूचनाएं मांगी गई थी, जिसके संदर्भ में सुजीत से 54 रुपये का अतिरिरक्त शल्ुक 27 पेज की इनफामेशन के हिसाब से मांगा गया, जब शल्ुक जमा कराया गया तो सूचना 29 पेज की जगह मात्र आठ पेज की प्राप्त हुई। यह सूचना लोक सूचना अधिकारी की ओर से दी गई।

दिए गए जवाब से जब याचिकाकर्ता सतुंष्ट नहीं हुए तो उन्होंने नियमानुसार प्रथम अपील अधिकारी के समक्ष प्रथम अपील 13 जुलाई 2018 को दायर की और बताया कि किस तरह से जानबूझ कर ज्यादा फीस लेने के बाद सूचना को छिपाया गया। इसके अलावा उन्होंने उपलब्ध करवाई सूचना को भी संतोषजनक नहीं बताया। दर्ज की गई अपील का जबाव प्रथम अपील अधिकारी के रूप में लोक सूचना अधिकारी ने ही दिया। इस पर सुजीत स्वामी ने केंद्रीय सूचना आयोग का दरवाजा खटखटाया। आयोग ने बीते रोज वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए इस मामले में आईआईटी मंडी के लोक सूचना अधिकारी को चेतावनी जारी की। साथ ही आईआईटी प्रबंधन से भी इस मसले को लेकर रिपोर्ट मांगी है।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस Link पर Click करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है