×

डीआईजी मधुसूदन बोले : ड्रग्स फ्री हिमाचल में आम जनता भी बने भागीदार

मधुसूदन ने किया सुंदरनगर थाना का निरीक्षणए पुलिस कार्यप्रणाली पर जताया संतोष

डीआईजी मधुसूदन बोले : ड्रग्स फ्री हिमाचल में आम जनता भी बने भागीदार

- Advertisement -

सुंदरनगर। हिमाचल के मंडी जिला के सुंदरनगर में पहुंचे सेंट्रल रेंज के डीआईजी मधूसूदन (DIG Madhusudan) ने लोगों से ड्रग्स फ्री हिमाचल (Drugs Free Himachal) में भागीदार बनने की अपील की। उन्होंने कहा कि पुलिस द्वारा चलाई जा रही “ड्रग्स फ्री हिमाचल ऐप” के माध्यम से आम जनता नशे का कारोबार करने वाले आरोपियों की जानकारी पुलिस को दे सकती है। इस ऐप पर जानकारी पूरी तरह से गोपनीय रखी जाती है। हिमाचल प्रदेश पुलिस की सेंट्रल रेंज के डीआईजी मधूसूदन बुधवार को सुंदरनगर पुलिस थाना (Sundernagar police station) का निरीक्षण करने पहुंचे थे। इस मौके पर उनके साथ एसपी मंडी शालिनी अग्निहोत्री, डीएसपी गुरबचन सिंह रनौत और एसएचओ सुंदरनगर कमलकांत मौजूद रहे। डीआईजी मधूसूदन द्वारा पुलिस थाना सुंदरनगर के साथ परिसर में मौजूद पुरानी आवासीय कालोनी का भी निरिक्षण किया। डीआईजी सेंट्रल रेंज मधूसूदन ने कहा कि अपराधिक विशलेषण को लेकर एसपी मंडी और डीएसपी के साथ पुलिस थाना सुंदरनगर के तहत अपराधिक विषलेशण किया गया।


 

उन्होंने कहा कि अपराध के खिलाफ पुलिस थाना सुंदरनगर का कार्य संतोषजनक पाया गया है। पुलिस थाना सुंदरनगर द्वारा नारकोटिक्स के संबंधित अपराध को लेकर काफी अच्छा कार्य किया गया है। मधुसूदन ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में नशे के कारोबार को रोकने के लिए पुलिस द्वारा मामलों में इकनोमिक इन्वेस्टीगेशन भी की जा रही है। उन्होंने कहा कि इसके तहत एक नशे के मामले में कुल्लू जिला के तहत आरोपी की 40 लाख की संपत्ति फ्रीज की गई है। उन्होंने कहा कि मंडी जिला में भी इसी तरह नशा माफिया के खिलाफ कड़े कदम उठाए जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें: SDM ग्राहक बन शराब लेने पहुंचे ठेके, सेल्स मैन ओवर चार्जिंग को लेकर बताने लगा कानून

बता दें कि हिमाचल प्रदेश पुलिस (Himachal Pradesh Police) को तीन रेंज में बांटा गया है, जिसमें सेंट्रल, नार्थ और साउथ जोन है। मंडी जोन के तहत प्रदेश के 5 जिला मंडी, कुल्लू, हमीरपुर, बिलासपुर तथा लाहुल और स्पीति शामिल हैं। डीआईजी मधूसूदन ने कहा कि नशे के व्यापार के खिलाफ प्रदेश पुलिस द्वारा चलाई जा रही “ड्रग्स फ्री हिमाचल ऐप” के माध्यम से आम जनता नशे का कारोबार करने वाले आरोपियों की जानकारी पुलिस को दे सकती है। उन्होंने कहा कि इस ऐप पर जानकारी पूरी तरह से गोपनीय रखी जाती है।

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है