Covid-19 Update

2,00,043
मामले (हिमाचल)
1,93,428
मरीज ठीक हुए
3,413
मौत
29,821,028
मामले (भारत)
178,386,378
मामले (दुनिया)
×

चंदन तस्कर वीरप्पन की बेटी ने थामा BJP का दामन, कहा- गरीबों के लिए काम करने की इच्छा

चंदन तस्कर वीरप्पन की बेटी ने थामा BJP का दामन, कहा- गरीबों के लिए काम करने की इच्छा

- Advertisement -

नई दिल्ली। चंदन तस्करी के लिए कुख्यात वीरप्पन (Veerapan)की बेटी विद्या रानी (Vidya Rani)ने शनिवार को बीजेपी का दामन थाम लिया है। बीजेपी ज्वाइन करते ही उन्होंने गरीबों के लिए काम करने की इच्छा जताई है। उन्होंने एक कार्यक्रम के दौरान BJP ज्वाइन की। इस दौरान पार्टी के जनरल सेक्रेटरी मुरलीधर राव (Muralidhar Rao) और पूर्व केंद्रीय मंत्री राधाकृष्णन भी उपस्थित रहे। इस कार्यक्रम में विद्या रानी ने कहा- ‘मैं अपनी जाति और धर्म के बावजूद गरीबों और वंचितों के लिए काम करना चाहती हूं। पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की योजनाएं लोगों के लिए हैं और मैं उन्हें लोगों तक ले जाना चाहती हूं।’ विद्या रानी के अलावा कई राजनीतिक पार्टियों के 1,000 से ज्यादा लोग बीजेपी में शामिल हुए।

यह भी पढ़ें:  मुफ्त में मिलेगी रेलवे प्लेटफॉर्म Ticket, बस.. करना होगा ये काम

विद्या के पिता वीरप्पन की बात करें तो, ऐसा कहा जाता था कि उसने कुल दो हजार हाथी मारे, ताकि उनके दांतों की तस्करी की जा सके। हजारों चंदन के पेड़ काट डाले इसके साथ ही उसने कई लोगों की भी हत्या की थी। साल 1987 में वीरप्पन ने चिदंबरम नाम के एक फॉरेस्ट अफसर को किडनैप था। इसके बाद उसने एक पुलिस टीम को उड़ा दिया था इस घटना में 22 लोगों की मौत हुई थी। वीरप्पन की मौत के बाद उनकी पत्नी मुत्तुलक्ष्मी सलेम में सामाजिक कल्याण से कामों से जुड़ी हुई है। उन्होंने 2006 में तमिलनाडु (Tamil Nadu)का विधानसभा चुनाव (Assembly Election)भी लड़ा, लेकिन हार गईं।2018 में उन्होंने ग्रामीणों का एक संगठन बनाने की घोषणा की थी।


हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी YouTube Channel…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है