Covid-19 Update

2,00,410
मामले (हिमाचल)
1,94,249
मरीज ठीक हुए
3,426
मौत
29,933,497
मामले (भारत)
179,127,503
मामले (दुनिया)
×

आफत : Chandigarh-Manali NH पर नजर हटी तो समझो दुर्घटना घटी

आफत : Chandigarh-Manali NH पर नजर हटी तो समझो दुर्घटना घटी

- Advertisement -

गड्ढों में बदली सड़क हिचकोले खाने को मजबूर यात्री

वी कुमार/मंडी। चंडीगढ़-मनाली नेशनल हाईवे 21 पर सफर जोखिम भरा हो गया है। यहां हालत ऐसी है कि नजर हटी तो समझो दुर्घटना घटी।वहीं, लोग इसलिए भी परेशान है कि नेशनल हाईवे पर गड्ढें हैं या गड्ढों में नेशनल हाइवे बनाया गया है। वाहन चालक गड्ढ़ों से बचने के चक्कर में कभी वाहन सड़क से बाहर भी निकाल देते हैं,  जिस कारण हादसा हो जाता है। दोपहिया वाहन चालक तो कई बार सीधे गड्ढों में ही घुसकर चोटिल हो चुके हैं।
शिमला या चंडीगढ़ से मंडी पहुंचने वाले सभी नेता और अधिकारी यहीं से होकर गुजरते हैं फिर भी कोई इसकी दयनीय हालत को सुधारने की जहमत नहीं उठा रहा है। गड्ढे इतने बड़े-बड़े हैं कि इनमें गाड़ी का टायर चले जाने पर पुर्जें तक टूट जाते हैं। नेशनल हाइवे पर वाहनों की जो रफ्तार होती है उसपर ब्रेक लगाने का काम यह गड्ढे जरूर कर रहे हैं। जब मजबूरी में आपको गड्ढों से वाहन को गुजारना पड़ता है तो उस वक्त गाड़ी में बैठे लोगों का तन और मन डोलने लगता है। लोगों के अनुसार बीते कुछ समय में हाईवे की हालत और भी दयनीय हो गई है जबकि इसकी दशा सुधारने की कोई जहमत नहीं उठाई जा रही है।
वहीं, जब इस बारे में हमने बल्ह के विधायक एवं कैबिनेट मंत्री प्रकाश चौधरी से पूछा तो उन्होंने इसका सारा ठीकरा केंद्र सरकार पर फोड़ दिया। मंत्री जी के अनुसार नेशनल हाईवे केंद्र सरकार के अधीन है और इसकी देखरेख उन्हीं का जिम्मा है। उन्होंने अपना फर्ज निभाते हुए अधिकारियों को इसकी दयनीय हालत से सूचित कर दिया है, लेकिन सुधार नहीं करवा सके। मंत्री जी मानते हैं कि फोरलेन के निर्माण के कार्य के चलते हाइवे की यह हालत हो रही है। बहरहाल अब यह केंद्र सरकार की नाकामी है या राज्य सरकार की, इसका फैसला अब जनता चुनावों में करने वाली है। हाइवे की बदहाली सभी के समक्ष है और इसके लिए दोषी कौन हैं उन्हें भी जनता चुनावों में ही अपना परिणाम सुनाएगी।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है