×

चंद्र @शांता: Vivekananda अस्पताल का विकास, एक सूत्रीय कार्यक्रम

चंद्र @शांता: Vivekananda अस्पताल का विकास, एक सूत्रीय कार्यक्रम

- Advertisement -

धर्मशाला। प्रदेश ओबीसी वित्त विकास निगम के अध्यक्ष चौधरी चन्द्र कुमार ने कांगड़ा चंबा संसदीय क्षेत्र से सांसद शांता कुमार पर तीखा हमला बोला है। धर्मशाला में पत्रकार वार्ता के दौरान चन्द्र कुमार ने शांता कुमार पर आरोपों की बौछार कर दी। चन्द्र कुमार ने कहा कि शांता प्रदेश के सीएम भी रहे और केंद्र सरकार में मंत्री भी लेकिन प्रदेश और संसदीय क्षेत्र के लिए एक भी विकास योजना लाने में नाकाम रहे। उन्होंने आरोप लगाया कि शांता कुमार का विकास का एक सूत्रीय कार्यक्रम है और वो है विवेकानन्द अस्पताल का विकास करना। शांता कुमार को जनता की कोई फ़िक्र नहीं है वो तो केवल अपने बारे में सोचते हैं।


चन्द्र कुमार ने कहा कि शांता कुमार हर तीसरे दिन प्रदेश के सीएम को पत्र लिखकर पालमपुर रोपवे बनाने की मांग करते हैं। इसकी वजह यह है कि पहाड़ी पर उन्होंने जमीन खरीदी है और उसी के लिए वह रोपवे चाहते हैं ताकि उनका काम धंदा खूब चल सके। चन्द्र कुमार ने तंज कसते हुए कहा कि शांता खुद को पानी वाला सीएम कहते हैं लेकिन वह यह भी बताएं कि प्रदेश में पहला हैंडपंप कब और कहाँ लगा था। शांता कुमार लच्छेदार भाषण देने में माहिर है और हवा में बातें करते हैं। उन्हें पता होना चाहिए की सिर्फ हवा में बातें करने से विकास नहीं होता। कांगड़ा के लिए वह कुछ नहीं कर सके और विगत चुनावों में चंबा में सीमेंट प्लांट लगाने का नया शिगूफा छेड़ दिया। अब वह बताएं कि वो सीमेंट प्लांट आखिर है कहां और कितनी बार संसद में उन्होंने यह मुद्दा उठाया है।

  • अपनी जमीन के लिए चाहिए रोप-वे, इसलिए हर तीसरे दिन सीएम को लिख रहे पत्र
  • अपनी लाइ हुई किसी भी योजना को बताएं, विकास कार्यों का जारी करें श्वेत पत्र
  • खुद को पानी वाला सीएम कहते हैं तो बताएं कि प्रदेश में कब और कहां लगा था पहला हैंडपंप

चंद्र कुमार ने कहा कि अपने कार्यकाल में उन्होंने सेंट्रल यूनिवर्सिटी, स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया का प्लांट और टांडा में सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल लाया। रिकॉर्ड समय में चक्की खड्ड का पुल बनवाया। यह कुछ उपलब्धियां हैं जो की उन्होंने हासिल की हैं अब शांता कुमार भी अपनी लाइ हुई कोई योजना बता दें। शांता अपने किए हुए विकास कार्यों को लेकर एक श्वेत पत्र जारी करें। चन्द्र कुमार ने आरोप लगाया कि जिस सेंट्रल यूनिवर्सिटी से प्रदेश के हजारों युवाओं को फायदा होना था, उसे बीजेपी ने राजनीति का मुद्दा बनाकर रख दिया है। जब सेंट्रल यूनिवर्सिटी आई थी तब अनुराग का कोई वजूद भी नहीं था और अब वही इस पर सबसे ज्यादा राजनीति करने में लगे हुए हैं। टांडा में सुपर स्पेशलिटी अस्पताल का मामला भी पूर्व की प्रदेश की बीजेपी सरकार और वर्तमान की केंद्र की बीजेपी सरकार ने ठंडे बस्ते में डाल दिया है। स्टील प्लांट बंद पड़ा है लेकिन शांता कुमार को उसकी कोई सुध नहीं है।

शांता बताएं कि उन्होंने स्टील प्लांट को चलाने के लिए क्या-क्या प्रयास किए। चंद्र कुमार ने कहा कि शांता कुमार आए दिन रेल विस्तार की बात करते हैं लेकिन वह भी सिर्फ हवाई बातें हैं। यदि कोई रेल विभाग का अधिकारी इस बारे में उनसे मिला है तो इसकी पूरी जानकारी उपलब्ध करवाए और यह भी बताएं कि रेल विस्तार कब से शुरू होना है। बेरोजगारी भत्ते को लेकर चन्द्र कुमार ने कहा कि कोई भी राज्य बेरोजगारी भत्ता नहीं देता है और कौशल विकास भत्ते का ही प्रावधान है।

सरकार और संगठन के बीच चल रही खींचतान को चन्द्र कुमार ने क्रिटिकल एप्रिसिएशन करार दिया। धर्मशाला को स्मार्ट सिटी का दर्जा मिलने पर उनका कहना था कि उन्हें आज दिन तक इसका कांसेप्ट ही समझ नहीं आया। केंद्र सरकार ने बिना तयारी के यह योजना शुरू की है और यदि केंद्र सरकार की कोई तयारी है तो इसका ब्लूप्रिंट भी केंद्र सरकार उपलब्ध करवाए। उन्होंने कहा कि धर्मशाला में दूसरी राजधानी के लिहाज से पर्याप्त सुविधाएं हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है