Covid-19 Update

2,06,589
मामले (हिमाचल)
2,01,628
मरीज ठीक हुए
3,507
मौत
31,767,481
मामले (भारत)
199,936,878
मामले (दुनिया)
×

ब्रेकिंगः कांगड़ा के दो चरस तस्करों को मंडी में 5-5 साल की कैद

ब्रेकिंगः कांगड़ा के दो चरस तस्करों को मंडी में 5-5 साल की कैद

- Advertisement -

मंडी। अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश विशेष न्यायाधीश तीन मंडी अपर्णा शर्मा की अदालत ने चरस रखने के दो आरोपियों को दोष साबित होने पर 5-5 वर्ष के कठोर कारावास की सजाई सुनाई है। साथ ही 25-25 हजार जुर्माना भी लगाया है। जिला न्यायवादी कुलभूषण गौतम ने बताया कि 7 फरवरी 2013 को जांच अधिकारी जोगिंद्रनगर थाना के एसएचओ अमर सिंह टीम के साथ रात करीब साढ़े सात बजे एनएच 20 पर स्पेशल नाकाबंदी के लिए मौजूद थे। मंडी की तरफ से आ रही एक कार को जांच के लिए रोका। कार में रंजीत सिंह पुत्र किरथ राम निवासी गांव सुंघल पालमपुर कांगड़ा व उज्जवल कुमार पुत्र प्यार चंद गांव सोरनु पालमपुर बैठे थे। रंजीत सिंह ने अपनी गोद में सफेद रंग का सब्जी लाने वाला थैला रखा हुआ था। थैले को चैक करने पर उसके अंदर एक किलो 22 ग्राम चरस बरामद की गई थी। जोगिंद्रनगर थाना में मामला दर्ज किया गया। मामने की जांच के बाद चालान कोर्ट में दाखिल किया। ट्रायल के बाद कोर्ट ने उक्त सजा सुनाई है।

 


हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group…

 

चूरा पोस्त के दोषी को 2 माह की सजा

ऊना। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश ऊना की अदालत ने एक फैसले में सुनाते तक एनडीपीएस एक्ट व एमवी एक्ट के तहत विजय सिंह वासी सिंगा को दोषी करार देते हुए सजा सुनाई है। जिया लाल आजाद की अदालत ने विजय सिंह को एनपीएस एक्ट के तहत 2 माह की कैद तथा 10 हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनाई है। जबकि एमवी एक्ट के तहत 1 माह की कैद व 500 रुपए जुर्माने की सजा सुनवाई  है। जुर्माना अदा न करने पर दोषी को 2 माह की अतिरिक्त कैद भुगतनी होगी। उप जिला न्यायवादी सोहन सिंह कौंडल ने बताया कि 19 दिसंबर 2016 को दोषी विजय सिंह को 7 किला चूरा पोस्त के साथ पकड़ा गया था। दोषी इस चूरा पोस्त को अपने ट्रक में लेकर जा रहा था। इस दौरान पुलिस ने गुरपलाह में लगे नाके के दौरान दोषी को पकड़ा और यह चूरा पोस्त बरामद की। ट्रक चालक विजय के पास ट्रक के पूरे दस्तावेज भी नहीं थे। पुलिस ने इस संबंध में अदालत में चालान पेश किया। अदालत ने साक्ष्यों को देखने और दोनों पक्षों की दलीलों को सुनने के बाद फैसला सुनाया है।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है