Covid-19 Update

57,162
मामले (हिमाचल)
55,672
मरीज ठीक हुए
958
मौत
10,636,056
मामले (भारत)
98,348,639
मामले (दुनिया)

Virbhadra चालीसा काम न आयाः काजल-काकू पर Suspense गहराया

Virbhadra चालीसा काम न आयाः काजल-काकू पर Suspense गहराया

- Advertisement -

कांगड़ा। विधानसभा क्षेत्र कांगड़ा वास्तव में एक अनबूझी पहेली जैसा दिखता है कांग्रेस खेमे में। इस रण में कौन कांग्रेस का सारथी बन बैठेगा कुछ पता नहीं। निर्दलीय चुनाव जीतकर कांग्रेस के साथ एसोसिएट एमएलए की भूमिका निभा रहे पवन काजल ने आज चाहे सीएम वीरभद्र सिंह की शान में कई कसीदे गढ़ डाले, पर वहां मौजूद पूर्व एमएलए सुरेंद्र काकू की मौजूदगी में इस बात का जिक्र आने पर कि कांगड़ा में कांग्रेस का प्रत्याशी कौन हो सकता है, सीएम यह कहकर अपना दामन बचा गए कि वक्त आने पर खुलासा करेंगे।

  • कांगड़ा के रण में कांग्रेस का सारथी कौन, अभी पता नहीं चल पाया
  • वीरभद्र ने वक्त पर इसका खुलासा करने की बात कह दामन छुड़ाया

इसके बाद काजल-काकू पर सस्पेंस गहरा गया है, पर यहां यह भी भुलाया नहीं जा सकता कभी वीरभद्र सिंह के बफादारों में शुमार काकू अब परिवहन मंत्री जीएस बाली के पाले में जाने की गलती कर बैठे हैं। हालांकि, उसके बाद वह कई मर्तबा उसे सुधारने का प्रयास कर चुके हैं, पर अब वह बात कहां। बावजूद इसके वीरभद्र सिंह ने आज खुलकर काजल का नाम भी नहीं लिया। कुल मिलाकर कांगड़ा पर अभी सस्पेंस बरकरार है।

[email protected] बाली की गैर मौजूदगी में Kajal का Virbhadra चालीसा

कांगड़ा। कांग्रेस के एसोसिएट एमएलए पवन काजल ने आज सीएम वीरभद्र सिंह की तारीफ के कसीदे गढ़ने की कोई कोर कसर बाकी नहीं छोड़ी। बगल के विधानसभा से कांग्रेस विधायक एवं वीरभद्र सरकार में परिवहन का जिम्मा संभाल रहे जीएस बाली की गैर मौजूदगी में दूसरी राजधानी के नाम पर धन्यवाद रैली में काजल ने तो वीरभद्र सिंह को कांगड़ा से ही चुनाव लड़ने का न्यौता दे डाला।

  • कहा, वीरभद्र सिंह कांगड़ा से लड़े चुनाव, ग्राउंड है तैयार
  • वीरभद्र को बताया देवता समान, सुधीर की तारीफ के पुल

उन्होंने कहा कि युवा कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष विक्रमादित्य सिंह अगर शिमला ग्रामीण से चुनाव लड़ेंगे तो वीरभद्र सिंह के लिए कांगड़ा का ग्राउंड तैयार है। यह वही काजल हैं जो कुछ वक्त पहले तक जीएस बाली के खेमे से जाने जाते थे, पर राजनीतिक तौर पर उन्होंने पलटी मारी और आज मंच से शहरी विकास मंत्री सुधीर शर्मा की तारीफ में पुल बांधने की कोई कोर कसर बाकी नहीं छोड़ी।

उन्होंने मटौर में आयोजित जनसभा मंच से यह जताने की भी पूरी-पूरी कोशिश की कि सीएम वीरभद्र सिंह से मिलवाने वाले सुधीर शर्मा ही है, जिन्होंने एक ऐसे सीएम से मिलवाया जो देवता समान है। अभी तक यही माना जा रहा है कि पवन काजल बतौर निर्दलीय चुनाव जीतकर विधानसभा में पहुंचे हुए हैं,जबकि उनका बैकग्राउंड बीजेपी से रहा है, ऐसे में वह इस मर्तबा भी टिकट के लिए बीजेपी का ही दरवाजा खटखटाएंगे। लेकिन आज जो जनसभा काजल ने मटौर में करवाई उसमें उन्होंने बार-बार चुनावी वर्ष का हवाला भी दिया व सीएम वीरभद्र सिंह को ही प्रदेश में सर्वश्रेष्ठ बताने की कोई कोर-कसर बाकी नहीं छोड़ी। इस जनसभा से तो ऐसा लग रहा है कि काजल अभी तक कांग्रेस के साथ ही चलने का मूड़ बनाए हुए हैं। खैर आज जिस तरह से इस जनसभा को दूसरी राजधानी के नाम पर धन्यवाद का नाम दिया गया था उसमें परिवहन मंत्री जीएस बाली की गैर मौजूदगी कई सवाल भी खड़े करती है। हालांकि,काजल की जनसभा में बाली का ना आना तो यूं भी स्पष्ट ही था कि वह नहीं आएंगे,पर जिला कांगड़ा में कांग्रेस के एक चर्चित नेता बाली का सीएम वीरभद्र सिंह के कार्यक्रमों से लगातार दूरी बनाए रखना बहुत बड़ा सवाल बनता जा रहा है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है