×

Mission [email protected] No Risk: एकजुटता का पाठ पढ़ाने खुद आएंगे CM

Mission Repeat@ No Risk: एकजुटता का पाठ पढ़ाने खुद आएंगे CM

- Advertisement -

कुल्लू। सीएम वीरभद्र सिंह कुल्लू के कांग्रेसियों में एकजुटता का पाठ पढ़ाने यहां आएंगे। सीएम वीरभद्र सिंह कांग्रेस पार्टी के जनरल हाउस में मुख्यातिथि के रूप में उपस्थित रहेंगे और आम कार्यकर्ताओं की बात सुनेंगे तथा पार्टी में किसका जनाधार है। इसकी भी समीक्षा करेंगे। यहीं, नहीं पार्टी कार्यकर्ता किस नेता से निराश है उसकी भी नब्ज टटोलेंगे। सोमवार को कुल्लू कांग्रेस का प्रतिनिधिमंडल सीएम वीरभद्र सिंह से मिलने शिमला पहुंचा। इस प्रतिनिधिमंडल को सीएम ने आश्वस्त किया है कि वे स्वयं पार्टी की बैठक में आएंगे और वहां पर कार्यकर्ताओं की नब्ज टटोली जाएगी। गौर रहे कि कुल्लू जिला में कांग्रेस में सीएम एकजुटता लाना चाहते हैं, ताकि मिशन रिपीट को बल मिल सके। जिला कुल्लू में कांग्रेसियों का कुनबा अधिक होने के बाद भी यहां पर 3 सीटे गत विधानसभा चुनावों में गैर कांग्रेसियों के हाथ में चली गई।


  • पार्टी के जनरल हाऊस में लेंगे भाग, सुनेंगे आम कार्यकर्ता की बात

इस बार सीएम वीरभद्र सिंह यह गलती नहीं करना चाहते हैं। सनद रहे कि मनाली विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस का वोट बैंक अधिक होने के बाद भी यहां सीट पिछले 2 टर्म में बीजेपी के हाथ जाती रही है। इसका सीधा कारण यह है कि मनाली कांग्रेस व कांग्रेस के नेताओं में समन्वय नहीं है और दोनों गुटों में 36 का आंकड़ा चला हुआ है। यहां पर भुवनेश्वर गौड़ व धामी गुट में तकरार होने के चलते सीट बीजेपी की झोली में जाती है। गत 2 चुनावों में धामी व गौड़ के मतों को एकत्रित किया जाए तो 33 हजार से अधिक यह दोनों मत लेते है। लेकिन, यहां पर विजय 17 हजार वाले बीजेपी उम्मीदवार की होती रही है। वहीं, कुल्लू विधानसभा क्षेत्र की बात की जाए तो यहां पर भी गुटबाजी के कारण कांग्रेस हारी है। हालांकि यहां पर पार्टी ने पूर्व मंत्री सत्यप्रकाश ठाकुर व कांग्रेस  महासचिव सुंदर सिंह ठाकुर के बीच में समझौता कर पार्टी में एकजुटता लाने का प्रयास किया है। लेकिन टिकट को लेकर यहां भी अभी से घमासान होना शुरू हो गया है। वहीं, बंजार विधानसभा क्षेत्र में बेशक गत चुनाव में कर्ण सिंह रिकार्ड मतों से जीते गए हो। लेकिन यहां भी वर्तमान में स्थिति कांग्रेस की पतली होती नजर आ रही है।  आनी विधानसभा क्षेत्र का समीकरण विगत चुनावों में महेश्वर सिंह की हिलोपा ने बिगाड़ दिया था, लेकिन सीएम के अपने हस्तक्षेप के चलते इस सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी जीत की राह पर पहुंचे थे।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है