Covid-19 Update

1,35,782
मामले (हिमाचल)
99,400
मरीज ठीक हुए
1925
मौत
22,992,517
मामले (भारत)
159,607,702
मामले (दुनिया)
×

CM सख्तः Private schools की मनमानी पर कसेंगे शिकंजा

CM सख्तः Private schools की मनमानी पर कसेंगे शिकंजा

- Advertisement -

शिमला। निजी स्कूलों की मनमानी पर सीएम वीरभद्र सिंह का शिकंजा कसने वाला है। वीरभद्र सिंह ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष विक्रमादित्य सिंह के पत्र पर सख्त रुख अपनाया है। वीरभद्र सिंह ने शुक्रवार को कहा कि जो पत्र निजी स्कूलों की फीस और किताबों की बिक्री पर मनमानी को लेकर युवा कांग्रेस के अध्यक्ष ने लिखा है अभी तक उसे सीएम ने पढ़ा नहीं है, लेकिन यह मुद्दा महत्वपूर्ण है और इस पर उचित कार्रवाई की जाएगी।


  • विक्रमादित्य के पत्र को लेकर वीरभद्र सिंह गंभीर, कहा उठाएंगे उचित कदम

उन्होंने कहा कि विक्रमादित्य सिंह चुने हुए युवा नेता हैं और उन्होंने जनता के मुद्दे को अगर सरकार के समक्ष उठाया है  तो इस पर उचित कार्रवाई की जाएगी। जाहिर है कि विक्रमादित्य सिंह ने निजी स्कूलों की बढ़ती मनमर्जी पर चिंता व्यक्त करते हुए इन्हें नियमों के अनुसार फीस वसूलने व अपने स्कूलों में प्रदेश सरकार के नियमों के अनुसार दाखिले देने को कहा था।

कुछ निजी स्कूल मनमाने ढंग से कार्य करने, अभिभावकों पर अनावश्यक अर्थिक बोझ डालकर उन्हें परेशान करने के संबंध में विक्रमादित्य सिंह ने इस बारे एक पत्र लिखकर सीएम वीरभद्र सिंह से ऐसे स्कूलों के खिलाफ निजी शिक्षण संस्थान नियामक आयोग से कड़ी नज़र रखने की मांग की थी। उन्होंने निजी स्कूलों की मनमानी के फरमान, जिसमें स्कूलों द्वारा वर्दी खरीदने लिए चुनिंदा दुकानों से खरीदने के, आदेश हर वर्ष मनमानी फीस वद्धि, स्कूलों में किए जाने वाले आयोजनों के नाम पर छात्रों से धन उगाही पर चिंता व्यक्त करते हुए इस पर आपत्ति जताई थी। विक्रमादित्य सिंह ने इस पर अंकुश लगाने की प्रदेश सरकार से मांग की थी।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है