Covid-19 Update

2,60,321
मामले (हिमाचल)
2,39. 550
मरीज ठीक हुए
3916*
मौत
38,903,731
मामले (भारत)
347,844,974
मामले (दुनिया)

मजाक-मजाक में चेन स्मोकर बना 2 साल का बच्चा, सिगरेट पीना छोड़ा तो बदल गई सूरत

हर दिन में 40 सिगरेट पीता था इंडोनेशिया का रहने वाला अर्दी

मजाक-मजाक में चेन स्मोकर बना 2 साल का बच्चा, सिगरेट पीना छोड़ा तो बदल गई सूरत

- Advertisement -

हर दिन 40 सिगरेट पीने वाले इंडोनेशियाई बच्चे की सूरत अब बदल गई है। मात्र दो साल के इस बच्‍चे अर्दी ने कुछ साल पहले सिगरेट (Cigarette) पीना छोड़ दिया। जिसके चलते अब इसका असर उसके शरीर पर साफ नजर आ रहा है। सिगरेट पीने की गंदी आदत छोड़ने के बाद अब यह बच्चा पहचान में ही नहीं आ रहा है। दुनिया भर में इस बच्‍चे की काफी चर्चा हो रही है।

यह भी पढ़ें:फिंगर प्रिंट से पकड़ लेती है पुलिस, अगर अंगुली जल जाए तो क्या होगा, यहां जानें

बता दें कि इंडोनेशिया (Indonesia) के सुमात्रा का रहने वाला मात्र दो साल का अर्दी नाम का बच्चा चेन स्मोकर (Chain Smoker) बन गया था। वह हर दिन में चालीस सिगरेट पीता था। अर्दी ने 7 साल पहले सिगरेट पीना छोड़ दिया और अब उसका पूरा हुलिया ही बदल गया। सिगरेट की लत के चलते अर्दी की हालत ऐसी हो गई थी कि सिगरेट ना मिलने पर वह सिर दीवार से पीटने लगता था। साल 2010 में उसकी एक सिगरेट पीते हुए धुआं उड़ाते हुए तस्वीर बहुत वायरल हुई थी। सिगरेट छोड़ने के बाद अब वह फल व सब्जियां खाता है, जिससे कि उसके शरीर में बहुत अच्छा बदलाव आ गया है।

 

18 महीने की उम्र में पिता ने उसे पहली बार पिलाया था सिगरेट

अर्दी ने साल 2017 में एक इंटरव्यू में बताया था कि उसके पिता ने मात्र 18 महीने की उम्र में उसे पहली बार सिगरेट पिलाया था। उसने कहा था कि सिगरेट छोड़ना मेरे लिए बहुत मुश्किल था। मैं सिगरेट नहीं पीता था तो मेरे मुंह का टेस्ट खराब हो जाता था और मेरा सिर चकराने लगता था। वहीं, अब सिगरेट छोड़ने के बाद उसने कहा कि मैं अब खुश हूं। मैं और ज्यादा उत्साहित हो गया हूं। मेरा शरीर अब तरोताजा महसूस कर रहा है।

सिगरेट नहीं मिलने पर पीटता था सिर

अर्दी की मां डियाने ने बताया कि जब अर्दी ने पहली बार सिगरेट छोड़ी तो उसने अपना सिर दीवार पर मारना शुरू कर दिया। इसके बाद उन्हें खुद उसे सिगरेट देनी पड़ती थी। डियाने ने बताया वह पागल सा हो गया था और सिगरेट नहीं मिलने पर खुद को ही मार रहा था और फिर उन्होंने सरकार के आईसीयू विशेषज्ञ से इस बारे में मदद मांगी। हालांकि अब ऐसा नहीं है, अब वह जमकर खाना खाता है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Subscribe करें हिमाचल अभी अभी का Telegram Channel…

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है