Covid-19 Update

2,16,430
मामले (हिमाचल)
2,11,215
मरीज ठीक हुए
3,631
मौत
33,380,438
मामले (भारत)
227,512,079
मामले (दुनिया)

सरोगेसी से जन्मे 51 बच्चे भेजे जाने हैं 12 देश, Lockdown के चलते इस देश में फंसे

सरोगेसी से जन्मे 51 बच्चे भेजे जाने हैं 12 देश, Lockdown के चलते इस देश में फंसे

- Advertisement -

कीव। यूक्रेन (Ukraine) के मानवाधिकार लोकपाल ने प्रशासन से अपील की है कि वे उन विदेशी माता-पिता के लिए सरोगेट मां (surrogate mother) से पैदा हुए शिशुओं के बारे में समाधान खोजें जो कोरोना वायरस के कारण देश की सीमाएं बंद होने के कारण देश में फंसे हुए हैं। रिपोर्ट्स के अनुसार यूक्रेन में सरोगेसी (Surrogacy) से जन्मे 51 बच्चे अमेरिका समेत 12 देश भेजे जाने हैं लेकिन लॉकडाउन के चलते यूक्रेन के होटल में फंसे हुए हैं। यूक्रेन सरकार ने कहा है कि अगर संबंधित दूतावासों से अनुरोध आए तो सिर्फ माता-पिता को यूक्रेन में दाखिल होने की अनुमति मिल सकती है।

यूक्रेन प्रशासन विदेशियों को सरोगेसी के माध्यम से संतान का सुख लेने की अनुमति देता है

बता दें कि यूक्रेन में कम-से-कम 22 मई तक कोविड-19 (Covid-19) संबंधित प्रतिबंध हैं। देश में आर्थिक संकट की वजह से कई महिलाएं सरोगेट मां बनती हैं और अपने परिवार को सहारा देती हैं। यूक्रेन में कम से कम 50 क्लीनिक ऐसे हैं जहां सरोगेसी से संतान सुख लिया जा सकता है। गौरतलब है कि विश्व के कुछ देशों में विदेशी नागरिकों के लिए सरोगेसी सेवा यानी किराए की कोख को पूरी मान्यता है और यूक्रेन उनमें से एक है। यूक्रेन प्रशासन विदेशियों को यूक्रेन आकर सरोगेसी के माध्यम से संतान का सुख लेने की अनुमति देता है।

यह भी पढ़ें: Lockdown में घरेलू हिंसा के सबसे अधिक Case उत्तराखंड और हरियाणा से सामने आए

बच्चों की अच्छी तरह देखभाल हो रही है

लेकिन फिलहाल चिंता वाली बात यह है कि लंबे समय तक सीमाएं बंद रहने के कारण क्लीनिकों पर बोझ बढ़ेगा और अभिभावकों के लिए तनाव में वृद्धि होगी। देश के सबसे बड़े सरोगेट ऑपरेशन ‘बायोटेक्सकॉम’ द्वारा एक वीडियो जारी करने के बाद इस मुद्दे ने व्यापक स्तर पर ध्यान आकर्षित किया जिसमें दर्जनों बच्चे होटल के दो बड़े कमरों में तंग पंक्तियों में रखे हुए दिखाये गये हैं। वीडियो का उद्देश्य माता-पिता को इस संबंध में आश्वस्त करना था कि उनकी अनुपस्थिति में उनके बच्चों की अच्छी तरह देखभाल हो रही है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है