Covid-19 Update

1,58,472
मामले (हिमाचल)
1,20,661
मरीज ठीक हुए
2282
मौत
24,684,077
मामले (भारत)
163,215,601
मामले (दुनिया)
×

मां छिन्नमस्तिका जयंती : श्रद्धालुओं ने नवाए शीश, मां का आशीर्वाद लिया

मां छिन्नमस्तिका जयंती : श्रद्धालुओं ने नवाए शीश, मां का आशीर्वाद लिया

- Advertisement -

Chinnmastika: रंग-बिरंगे फूलों और गुब्बारों से सजा मंदिर

Chinnmastika: ऊना। प्रसिद्ध शक्तिपीठ चिंतपूर्णी मंदिर में मां छिन्नमस्तिका जयंती धूमधाम से मनाई गई। इस अवसर पर मंदिर को रंग-बिरंगे फूलों और गुब्बारों से सजाया गया। चिंतपूर्णी मंदिर में दिनभर मां छिन्नमस्तिका का आशीर्वाद लेने के लिए श्रद्धालुओं का खूब तांता लगा रहा। श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए मंदिर प्रशासन द्वारा विशेष प्रबंध किए गए थे।


मां छिन्नमस्तिका जयंती पर शिव मंदिर के कुंड से लाए गए जल से पवित्र पिंडी का स्नान करवाने के बाद पिंडी का फूलों से विशेष श्रृंगार किया गया। मां की जयंती पर मंदिर परिसर में ही हवन यज्ञ व विशेष पूजा का आयोजन भी किया गया। छिन्नमस्तिका देवी को मां चिंतपूर्णी के नाम से भी जाना जाता है। देवी के इस रूप के विषय में कई पौराणिक धर्म ग्रंथों में उल्लेख मिलता है।  मार्कंडेय पुराण व शिव पुराण आदि में देवी के इस रूप का विशद वर्णन किया गया है।


इनके अनुसार जब देवी ने चंडी का रूप धरकर राक्षसों का संहार किया और दैत्यों को परास्त करके देवों को विजय दिलवाई तो चारों ओर उनका जय घोष होने लगा,परंतु देवी की सहायक योगिनियां अजया और विजया की रुधिर पिपासा शांत नहीं हो पाई थी। उनकी रक्त पिपासा को शांत करने के लिए मां ने अपना मस्तक काटकर अपने रक्त से उनकी रक्त प्यास बुझाई। इस कारण माता को छिन्नमस्तिका नाम से भी पुकारा जाने लगा।

मां चिंतपूर्णी जयंती के अवसर पर हजारों श्रद्धालुओं ने मंदिर में माथा टेका और पवित्र पिंडी के दर्शन करके मां का आशीर्वाद प्राप्त किया। चिंतपूर्णी मंदिर के पुजारी महेंद्र कालिया ने बताया कि छिन्नमस्तिका जयंती चिंतपूर्णी मंदिर का सबसे बड़ा पर्व है तथा इस दिन माता रानी सभी भक्तों की मन्नतें पूरी करती हैं।

बुद्धं शरणं गच्छामि…धम्मं शरणं गच्छामि…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है