Covid-19 Update

1,54,664
मामले (हिमाचल)
1,15,610
मरीज ठीक हुए
2219
मौत
24,372,907
मामले (भारत)
162,538,008
मामले (दुनिया)
×

केंद्र की किसान-मजदूर विरोधी नीतियों के खिलाफ सीटू का हल्ला बोल 5 को

केंद्र की किसान-मजदूर विरोधी नीतियों के खिलाफ सीटू का हल्ला बोल 5 को

- Advertisement -

शिमला। केंद्र सरकार की कथित किसान-मजदूर विरोधी नीतियों के खिलाफ सीटू ने अखिल भारतीय किसान सभा के साथ मिलकर दिल्ली में 5 सितम्बर को महारैली का आयोजन किया है। इसमें हिमाचल प्रदेश के करीब 700 मजदूर-किसान भाग लेंगे। महारैली में देशभर से लगभग 5 लाख मजदूर-किसान अपनी मांगों को लेकर दिल्ली में हल्ला बोलेंगे।


सीटू व किसान सभा ने केंद्र सरकार को चेताया है कि वह मजदूरों-किसानों के खिलाफ काम करना बंद करे अन्यथा वे जोरदार आंदोलन कर सरकार को सत्ता से बाहर कर देंगे। सीटू जिला महासचिव विजेंद्र मेहरा और किसान सभा नेता सत्यवान पुंडीर ने आरोप लगाया कि वर्तमान मोदी सरकार पूंजीपतियों व औद्योगिक घरानों के लिए काम कर रही है। सरकार के गलत निर्णयों के कारण लगभग 15 लाख मजदूरों को नौकरी से हाथ धोना पड़ा है। श्रम कानूनों में मजदूर विरोधी परिवर्तन किए जा रहे हैं।


इन प्रमुख मांगों को लेकर होगी महारैली

उन्होंने मांग की है कि मजदूरों का न्यूनतम वेतन 18 हज़ार रुपए किया जाए। आंगनवाड़ी, मिड डे मील व आशा वर्कर्स को रेगुलर किया जाए, श्रम कानूनों में परिवर्तन रोक जाए, बीएसएनएल, बीमा, बैंक, रक्षा आदि सार्वजनिक क्षेत्रों को बेचने की प्रक्रिया पर रोक लगाई जाए, सबके लिए पुरानी पेंशन नीति बहाल की जाए, कच्चे रोजगार की जगह पक्का रोजगार दिया जाए। मनरेगा में 200 दिन का रोजगार सुनिश्चित किया जाए।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है