Covid-19 Update

58,598
मामले (हिमाचल)
57,311
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,095,852
मामले (भारत)
114,171,879
मामले (दुनिया)

प्रदेश भर में CITU ने केंद्र और प्रदेश Government के खिलाफ बोला हल्ला

प्रदेश भर में CITU ने केंद्र और प्रदेश Government के खिलाफ बोला हल्ला

- Advertisement -

टीम। केंद्र की बीजेपी सरकार द्वारा देश की जनता से किए गए वादों को पूरा न करने पर मजदूर संगठनों ने पूरे प्रदेश में आज केंद्र सरकार के खिलाफ हल्ला बोला। केंद्र सरकार के खिलाफ किए गए सत्याग्रह में मजदूर संगठन सीटू, एटक और इंटक से सम्बद्ध सभी यूनियनों ने हिस्सा लिया। ट्रेड यूनियनों के संयुक्त मंच के शिमला जिला संयोजक व सीटू नेता विजेंद्र मेहरा ने कहा कि उनकी मांग है कि लगातार बढ़ रही महंगाई के मध्येनजर मजदूरों का न्यूनतम वेतन 18 हजार रुपए किया जाए।
उन्होंने कहा कि आंगनबाड़ी, मिड डे मील व आशा जैसे स्कीम वर्करों के रोजगार को खत्म करने के लिए केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दायर किया है। उन्होंने समान काम समान वेतन देने की भी मांग की। मेहरा ने कहा कि उनकी मांग है कि स्कीम वर्करों को 45वें व 46वें राष्ट्रीय श्रम सम्मेलन की सिफारिशों के अनुसार रेगुलर किया जाए। 

रैलियां निकालीं, जोरदार नारेबाजी

सोलन जिला मुख्यालय में भी भारतीय कम्यूनिस्ट पार्टी के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने केंद्रीय  सरकार की नवउदारवादी आर्थिक नीतियों व स्थानीय समस्याओं के खिलाफ पार्टी के राज्य सचिव कामरेड शशी पंडित, एटक प्रदेश अध्यक्ष  जगदीश भारद्वाज के नेतृत्व में बाइपास से उपायुक्त कार्यालय तक रैली निकाली। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार उद्योगपतियों के हितों में नियम बना रही है, जिसके आधार  पर मजदूरों का जमकर शोषण हो रहा है और विकास का आधार रखने वाले खुद को आज असहाय महसूस कर रहे हैं।
कुल्लू में संयुक्त केंद्रीय ट्रेड की संयुक्त समन्वय समिति की कुल्लू इकाई द्वारा नेहरू पार्क से जिलाधीश कार्यालय तक रैली निकाल कर केंद्र व प्रदेश सरकार की मजदूर विरोधी नीतियों के खिलाफ जोरदार नारे लगाए। जिलाधीश कार्यालय में रैली को संबोधित करते हुए सीटू के जिला महासचिव राजेश ठाकुर ने कहा कि केंद्र में मोदी सरकार के लगभग 4 साल के कार्याकाल में लगातार जन विरोधी व मजदूर विरोधी नीतियों को सख्ती से लागू किया जा रहा है। केंद्रीय सरकार द्वारा मंहगाई को कम करने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाए जा रहे हैं। 

सिरमौर इकाई ने नाहन में सत्याग्रह आंदोलन चलाया

सीटू की सिरमौर इकाई ने नाहन में सत्याग्रह आंदोलन चलाया। इस दौरान सीटू ने नाहन चौगान से रैली निकाली जो विभिन्न स्थानों से होती हुई डीसी ऑफिस पहुंची। सीटू के राज्य सचिव राजेंद्र ठाकुर की अगुवाई में कार्यकर्ताओं ने डीसी सिरमौर के माध्यम से प्रधानमंत्री को एक ज्ञापन भी भेजा। इसके अलावा सीटू ने श्रम कानूनों के साथ छेड़छाड़ बंद करनेए मजदूरों के हित में श्रम कानून संशोधित करने जैसे मामले भी जोरशोर के साथ उठाए। इस मौके पर हड़ताल में आए सैकड़ों मजदूरों को सीटू जिला अध्यक्ष भूप सिंह भंडारी, सीटू के जिला उपाध्यक्ष सरचंद ठाकुर, इंटक के जिला प्रधान खीमी राम तथा एटक से राजेश पाल ने संबोधित किया।

यूनियन की मांगें

टे्रड यूनियन मांग करती है कि मजदूरों का न्यूनतम वेतन 18 हजार रुपये मासिक किया जाए। श्रम कानूनों को न बदला जाए, ठेका प्रथा समाप्त की जाए तथा ठेका मजदूरों को सम्मान काम का समान वेतन, आंगनबाड़ी मिड-डे मिल व मनरेगा के बजट में बढोतरी, सभी स्कीम वर्कज को सरकारी कर्मचारी घोषित किया जाए, सभी मजदूरों को पेंशन आदि सामाजिक सुरक्षा प्रदान की जाए। बैंक, बीएसएनएल, बीमा, रक्षा, रेलवे, कोयला, बिजली, परिवहन व अन्य सरकारी प्रतिष्ठानों में विदेशी वि निवेश व नीजिकरण बंद किया जाए। यूनियनों को पंजीकरण 45 दिनों के अंदर किया जाए, केंद्र सरकार द्वारा संबंध में लाए जा रहे सड़क सुरक्षा अधिनियम 2015 को तुरंत वापस लिया जाए।

Nahan में Padmavat का विरोध, Film के खिलाफ भड़की चिंगारी

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है