Expand

सवालों में अस्पताल, Coma में चल रहे मरीज का नहीं बना Disability Certificate

सवालों में अस्पताल, Coma में चल रहे मरीज का नहीं बना Disability Certificate

- Advertisement -

मोहिंदर भारती/रेवाड़ी। नागरिक अस्पताल रेवाड़ी में व्यवस्था आज भी बदहाल है। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि मेडिकल सर्टिफिकेट बनवाने के लिए किस कद्र पीडि़तों को परेशान होना पड़ रहा है। ताजा वाक्या में, कोमा में चल रहे एक मरीज का डिसएबिलिटी सर्टिफिकेट बनवाने के लिए आए उसके परिजनों दिनभर इंतजार करना पड़ा। हद तो तब हो गई, जब 7 घंटे के लंबे इंतजार के बाद अस्पताल प्रबंधन ने यह कहकर रैफर कर दिया कि यह सर्टीफिकेट रोहतक में बनेगा।

  • फिर सवालों में स्वास्थ्य सेवा, कोमा में मरीज
  • 7 घंटे इंतजार करने के बाद भी नहीं बना Disability Certificate
  • पियोन बोला, 2 हजार देने पर मिलेगा सर्टिफिकेट
  • शाम ढलने लगी तो बोले-PGI जाना पड़ेगा

परिजनों ने जब इसका कारण जानना चाहा तो SMO Office के Peon ने सर्टिफिकेट बनाने की एवज में परिजनों से 2 हजार रूपए मांगे और कहा कि 2 हजार रूपए देने पर उनका सर्टिफिकेट यहीं पर तैयार हो जाएगा। जिसके बाद परिजन मरीज को एंबूलेंस में अपने घर ले गए।coma2

रेवाड़ी के मोहल्ला नई बस्ती निवासी महिला रिंकू फरवरी 2016 में झज्जर फ्लाईओवर के निकट किसी वाहन की चपेट में आने से कोमा में चली गई थी। तब से लेकर आज तक वह कोमा में है। इसी बाबत रिंकू के परिवारजन Disability Certificate बनवाने के लिए उसे सिविल अस्पताल में लेकर आए थे। सुबह 9 बजे सर्टीफिकेट बनवाने के लिए पर्ची काट दी गई, लेकिन दिनभर इंतजार के बावजूद उसका सर्टिफिकेट नहीं बन पाया। शाम 5 बजे तक जब सर्टीफिकेट नहीं बना तो महिला के परिजनों ने इसका कारण पूछा। इसके बाद पहुंचे अस्पताल के सीनियर डॉक्टरों ने यहां न्यूरो सर्जन नहीं होने का बहाना लगाकर रोहतक पीजीआई में प्रमाण पत्र बनवाने की बात कहकर अपना पल्ला झाड़ लिया। इसे लेकर महिला के परिजन घर ले आए। परिजनों का आरोप है कि तुरंत सर्टिफिकेट बनाने के नाम पर एसएमओ कार्यालय के पियोन ने उनसे 2 हजार रूपए की मांग की। वहीं इस मामले को लेकर सिविल सर्जन का कहना है कि ऐसा कोई मामला उनके संज्ञान में नहीं है और अगर ऐसा हुआ है तो वह इसकी जांच करवाएंगे।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है