Covid-19 Update

2,05,017
मामले (हिमाचल)
2,00,571
मरीज ठीक हुए
3,497
मौत
31,341,507
मामले (भारत)
194,260,305
मामले (दुनिया)
×

बारिश का तांडव : किन्नौर व चंबा में फटे बादल, भारी नुकसान 

बारिश का तांडव : किन्नौर व चंबा में फटे बादल, भारी नुकसान 

- Advertisement -

टीम/हिमाचल अभी अभी। प्रदेश में  किन्नौर व चंबा में बादल फटने से भारी नुकसान हुआ है। किन्नौर जिला के तहत रिश्पा के छारंग नाला देर रात बादल फटने से एक पुल बह गया, 4 कूहलें क्षतिग्रस्त हो गई, भूस्खलन के चलते एनएच- 5 भी अवरूद्ध हो गया है। मलिंग नाला संपर्क मार्ग, तरंडा संपर्क मार्ग, सांगला मार्ग, चौरा से छोटा खंबा तथा चापरी से जेणी जाने वाला मार्ग बंद हो गया है। प्रशासन की ओर से मार्ग बहाल करने के प्रयास किए जा रहे हैं।

चंबा में भारी नुकसान, कई मार्ग बंद

चंबा जिला के रजेरा में बादल फटने से भारी नुकसान हुआ है। रजेरा पंचाय़त के गुड्डा गांव में बादल फटने से कई घरों पर मलबा आ गया। लोगों ने जैसे तैसे अपनी जान बचाई। उधर, चंबा-पठानकोट मार्ग पर  डुढियारा के पास पहाड़ी दरकने से  मार्ग बंद हो गया है। राजपुरा पंचायत के गडियाणु में भी कई घरों में पानी घुस गया है। सुरगानी गरझिड़ू सुंडला मार्ग पर बंद हो गया है। हिमगिरी-सुखधार मार्ग भी बंद बताया जा रहा है। जिला के कई हिस्सों में भूस्खलन हुआ है और इसके चलते चंबा पठानकोट एनएच- 154-A पर पंजपुला में पहाड़ी के दरकने से बंद हो गया है। ऐसे में रास्ता पार करने के लिए लोग अपनी जान तक का जोखिम उठा रहे है।

राजगढ़ शिव मंदिर के पास भूस्खलन से खाई में गिरी पिकअप जीप

जिला सिरमौर में भारी बारिश से जनजीवन अस्तव्यस्त जो गया है। रविवार देर रात से शुरू हुई  बारिश ने जिले के कई हिस्सों में कहर बरपाना शुरू कर दिया है। एक दर्जन से अधिक सड़कें बंद हो गई है। कई हिस्सों में छोटे और बड़े वाहन जहां तहां फंसे हैं। भारी बारिश से राजगढ़ के समीप शिव मंदिर के पास खड़ी एक पिकअप जीप भूस्खलन के कारण खाई में गिर गई। सोलन-मीनस सड़क पर नोहराधार के समीप कंडा नाला में बाढ़ जैसी स्थिति बनी हुई है। नाले के रौद्र रूप के चलते वाहनों का सड़क से गुजरना मुश्किल हो गया है। दर्जनों वाहन सड़क पर फंस गए है।
इसके अलावा नाहन-शिमला नेशनल हाईवे देर रात से नैना टिककर के समीप सादना घाट व चरानी में बंद हो गया है। बारिश के चलते राजगढ़ व संगडाह उपमंडल के अधिकतर सडक़ें बंद हो चुकी है, जिसमें राजगढ़- नौहराधार मार्ग, संगडाह-हरिपुरधार, सराहां-नारायणगढ़ मार्ग व नाहन-मातर भेडो व नाहन कौलावालाभूड़ मार्ग बंद है। इसके अतिरिक्त पांवटा-शिलाई नेशनल हाईवे बंद होने की सूचना मिली है। मार्ग पर कई जगह भूस्खलन हुआ है। जिला के ग्रामीण क्षेत्रों की हालत काफी खराब हो चुकी है। बारिश के चलते टमाटर व शिमला मिर्च की फसल को काफी नुकसान हुआ है। बारिश के चलते जिला के सभी खड्ड, नाले व नदियां उफान पर हैं।

दो घंटे तक गारनी खड्ड में फंसा रहा व्यक्ति, देर तक बंद रहा चंडीगढ़-धर्मशाला मार्ग

जिला ऊना में देर रात से हो रही भारी बारिश ने तांडव मचा दिया है। जिला की स्वां नदी और सभी नाले उफान पर हैं, कई जगहों पर सड़कें टूटने और लहासे गिरने से कई मुख्य मार्गअवरुद्ध हो गए हैं। मुबारिकपुर के समीप सड़क टूटने से काफी देर तक चंडीगढ़-धर्मशाला रोड भी अवरुद्ध रहा। भारी बरसात के कारण बडूही क्षेत्र में बहने वाली गारनी खड्ड में एक व्यक्ति फंस गया था, जोकि दो घंटे तक नदी के बीच ज़िन्दगी की जंग लड़ता रहा, लेकिन आख़िरकार स्थानीय लोगों ने रस्सी की सहायता से उसे सकुशल बाहर निकाला। बाहर निकाले जाने के दौरान तीन चार बार वो नीचे नदी में गिरा। इस व्यक्ति को खड्ड पर बने पुल पर एक रस्से के सहारे स्थानीय लोगों ने बाहर निकाला। जबकि प्रशासन द्वारा राहत कार्यों के मद्देनज़र हर संभव व्यवस्था किये जाने का प्रयास किया जा रहा है , ऐहतियात के तौर पर प्रशासन द्वारा स्कूलों में सुबह जल्दी ही अवकाश घोषित कर स्कूली बच्चों को घर वापिस भेज दिया गया।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है