Covid-19 Update

2,06,027
मामले (हिमाचल)
2,01,270
मरीज ठीक हुए
3,505
मौत
31,653,380
मामले (भारत)
198,295,012
मामले (दुनिया)
×

मोदी जी सुनिए, 9 राज्य एनआरसी लागू न करने की बात कर रहे हैं: गहलोत

मोदी जी सुनिए, 9 राज्य एनआरसी लागू न करने की बात कर रहे हैं: गहलोत

- Advertisement -

नई दिल्ली। राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने रविवार को कहा, ‘मोदी जी आपको 9 राज्यों की सुननी चाहिए…यहां तक कि संसद में आपका समर्थन करने वाले बिहार और ओडिशा के मुख्यमंत्री भी कह रहे हैं एनआरसी लागू नहीं करेंगे।’ उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री को घोषणा करनी चाहिए कि न ही एनआरसी को उसके वर्तमान स्वरूप में घोषित करेंगे, न ही सीएए को।’ गहलोत ने कहा कि असम में NRC प्रक्रिया हुई, लोग लाइनों में लगे,नोटबन्दी की तरह परेशानी हुई जिसमें 150 लोग मारे गए, सरकार के पास कोई जवाब नहीं। मोदीजी ने 50 दिन मांगे,भाइयों-बहनों मैं सब ठीक कर दूंगा, क्या ठीक कर दिया? मोदीजी के नारे काम नहीं आने वाले और फिर चाहते हैं पूरा मुल्क लाइनों में लग जाए।

उन्होंने आगे कहा कि जिस प्रकार से #CitizenshipAmmendmentAct पास किया गया है, ये लोगों को लाइनों में लगाने का काम करना चाहते हैं, क्या स्थिति बनेगी देश की…इनके इरादे नेक नहीं हैं, ये लोग इस देश को हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई, पारसी, जैन बौद्ध सब धर्मों में बांटना चाहते हैं। सीएम गहलोत ने आगे कहा हिम्मत चाहिए इंदिरा गांधी जी की तरह, देश को टूटने नहीं दिया, एक रखा, अखंड रखा, उसकी कीमत चुकानी पड़ी, प्रधानमंत्री पद पर रहते हुए उनकी जान चली गयी… आज ये सभी धर्मों के लोगों को बांटना चाहते हैं। बहुत खतरनाक खेल खेला जा रहा है।

उन्होंने कहा कि इनको चाहिए अहम घमंड छोड़कर समय रहते CAA को वापस लें, घोषणा करें NRC देश में लागू नहीं होगी। जो अवैध घुसपैठिए हैं, देश के लिए खतरा हैं, उनके खिलाफ कार्रवाई करो सभी आपके साथ खड़े रहेंगे, घुसपैठियों के नाम पर आप पूरे देश को लाइनों में खड़ा करना चाहते हो ये मंजूर नहीं। इससे पहले गहलोत ने रविवार को ट्वीट किया, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मेरा नाम लेकर देश को गुमराह कर रहे हैं।’ उन्होंने लिखा, ‘पाकिस्तान से प्रताड़ित होकर आए शरणार्थियों को सुविधाएं मिलें, इसके लिए तत्कालीन गृहमंत्री पी. चिदंबरम को पत्र लिखना क्या गलत था?’ पीएम ने कहा कि पहले गहलोत खुद शरणार्थियों के हमदर्द थे लेकिन अब पलट गए हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है