×

Himachal Budget live: न्यूनतम दिहाड़ी 275 से बढ़कर 300 रुपए हुई

Himachal Budget live:  न्यूनतम दिहाड़ी 275 से बढ़कर 300 रुपए हुई

- Advertisement -

शिमला। सीएम जयराम ठाकुर (CM Jairam Thakur) हिमाचल विधानसभा में अपने कार्यकाल का चौथा बजट पेश कर  रहे हैं। ये रहे बजट भाषण के  प्रमुख बिंदू…..


  • इस वर्ष के लिए 50192 करोड़ का बजट, राजस्व प्राप्तियां 36, 588 करोड़ वराजस्व घाटा 423 करोड़ रहा।
    अनुमानित बजट घाटा 28,491 करोड़ तथा राजकोषीय घाटा 7789 करोड़, जो जीडीपी का 4.5 फीसदी है।प्रति सौ रुपये में से सरकार का 25.32 फीसदी वेतन भत्तों पर।14.11 फीसदी पेंशन पर,10 फीसदी ब्याज पर,6.64 फीसदी ऋणों के भुगतान पर ,43. 94 फीसदी शेष कार्य के लिए खर्च होगा ।
  • दिहाड़ीदार मजदूरों की दिहाड़ी 275 से बढ़ा कर 300 करने का ऐलान। अंशकालिक कर्मियों की प्रति घंटा दिहाड़ी भी बढ़ेगी। चतुर्थ क्षेणी को बीस साल के लाभ की विसंगति दूरहोगी
  • एक साल में 30 हज़ार नौकरियां देगी सरकार। इस के तहत शिक्षा विभाग में 4000 शिक्षक, 8000 बहुउद्देशीय कर्मी पार्ट टाइम, लोक निर्माण विभाग में 5000 पार्ट टाइम बहुउद्देशीय कर्मी, जल शक्ति विभाग में 4000 कर्मी और विभिन्न विभागों में 9000 पद भरे जाएंगे ।
  • आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को मानदेय में 500 को वृद्वि साथ ही सहायिकाओं का मानदेय 300  रुपये बढ़ा।
  • सड़कों के रखरखाव के लिए पांच सौ मल्टी टास्क वर्कर रखने का ऐलान। 5 हजार किलोमीटर सड़कें दुरुस्त की जाएगी।
  • स्कूल प्रबंधन कमेटी द्वारा रखे गये सभी वर्ग के अध्यापकों के मानदेय की अधिकतम सीमा को 500 रुपये प्रतिमाह बढ़ाने की घोषणा
  • एचआरटीसी के बेड़े में 200 नई बसें शामिल होगी । साथ ही ई चालान प्रकिया शुरू की जाएगी, जिससे सड़क सुरक्षा बढ़ेगी । प्रदेश के जिन इलाकों में बड़े वाहन नहीं जा सकते वहां पर 18 सीट के छोटे वहां चलाए जाएंगे। ढली और धर्मशाला के बस अड्डे आधुनिक स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत बनाये जांयगे। सार्वजनिक यात्री वाहन सुविधाओं को वाहन ट्रेकिंग सिस्टम से जोड़ा जाएगा ।कारोना काल मे नुकसान से भरपाई के किये दोबारा सामान्य स्थिति पर लाने के लिए मल्टीमीडिया पब्लिसिटी का सहयोग लिया जायेगा।5 हजार किलोमीटर सड़के दुरुस्त की जाएंगी
  • विभिन्न श्रेणियों के शिक्षकों की मांगों पर विचार के लिए मुख्य सचिव की अध्यक्षता में उच्च स्तरीय समिति के गठन की घोषणा की गई।
  • अटल टनल देखने वाले पर्यटक के लिए बेहतर सुविधाएं सुनिश्चित करवाएगी। वेलनेस सेंटर्स ,आयुर्वेद व साइकिलिंग को बढ़ावा दिया जाएगा। होम स्टे इकाइयों को पर्यटन के साथ जोड़ा जाएगा। पर्यटन में निज़ी क्षेत्र में कार्य कर रहे लोगों के लिए प्रशिक्षण शुरू किया जाएगा। एक हजार युवाओं को पर्यटन साहसी के ट्रेनिंग दी जाएगी।
  • जिला चम्बा, कांगड़ा, मण्डी व शिमला में ग्राम शिल्प मेलों का आयोजन किया जाएगा.

  • कक्षा छठी से दसवीं तक के सभी सरकारी स्कूलों के बच्चों की आंखों की जांच एवं निशुल्क चश्मा प्रदान करने के लिए ‘‘मिशन दृष्टि’’ शुरु ।
  • भारत सरकार की एक जिला एक उत्पाद योजना के अंतर्गत हिमाचल प्रदेश के 12 जिलों में उत्पाद को चयनित कर दिया गया है। केंद्र सरकार खिलौना निर्माण की तरफ फोकस कर रही है। प्रदेश में दो खिलौना क्लस्टर स्थापित किए जाएंगे।
  • राजस्व विभाग में अंशकालिक कर्मचारियों व नंबरदार के मानदेय 300 रुपये बढ़ाने की घोषणा
  • जलगार्ड,पैरा फिटर, पंप आपरेटर का भी तीन सौ रुपये मानदेय बढ़ा।
  • PG Students, Junior Residents, Senior Residents, DM/M.ch students के मानदेय को 5-5 हजार रुपये प्रतिमाह बढ़ाने की घोषणा
  • शिमला के सभी वार्डों में 24 घंटे पानी की आपूर्ति पर खर्च होंगे 270 करोड़
  • नवगठित नगर निगम को एक-एक करोड़- नगर पंचायत को 20-20 लाख रुपए मिलेंगे।
  • स्वास्थ्य सेवाओं के लिए 3,016 करोड के बजट का।प्रावधान किया गया है
  • हिमाचल में आशा वर्कर का मानदेय 750 रुपये बढ़ा। इन्हें अतिरिक्त प्रोत्साहन राशि भी मिलेगी।
  • एसएमसी शिक्षकों का मानदेय 500 रुपए बढ़ाया। आउट सोर्स,आईटी शिक्षकों का भी मानदेय 500 रुपए बढ़ाया।
  • मिड-डे मील कर्मियो और वार्टर केरियर का मानदेय 300 रुपए बढ़ाया। शिक्षा के लिए 2021-22 के लिए 8024 करोड़ का प्रावधान
  • तीसरी, पांचवीं, आठवीं कक्षाओं के लिए परीक्षा अनिवार्य की जाएगी। स्पोकन इंग्लिश कोर्स शुरू किए जाएंगे।
  • पंचायत चौकीदारों का मानदेय 300 रुपये बढ़ाने की घोषणा। सिलाई अध्यापिकाओं का मानदेय भी 300 रुपये बढ़ाने की घोषणा की। 102 पंचायतें निर्विरोध चुनी गईं। इन्हें 10-10 लाख दिए जाएंगे।
  • नई 100 छात्रवृत्ति योजना,शतरंज के खेल को मिलेगा प्रोत्साहन,खेल प्रतियोगिता के लिए छात्रों की डाइट मनी 50 से 100, 60 से 120 और 75 से 150 की गई
  • हिमाचल में मधुमक्खी बोर्ड गठन और स्वर्ण जयंती समृद्ध बागवान योजना का ऐलान,दूध खरीद मूल्य दो रुपये बढ़ाया।
  • पंचायत चौकीदार का मानदेय 300 प्रतिमाह बढ़ाने की घोषणा,साथ ही 250 बैंक सखी बनाने की भी घोषणा
  • पंचायत के चुनावों में बीजेपी समर्थित प्रत्याशियों को जीत मिली है।2005 के बाद नई पंचायतों का गठन नहीं किया गया था और सरकार के पास पंचायतों के गठन की मांग आ रही थी ,जिसमें बाद सरकार ने पंचायतों का गठन किया और अब कुल 3615 पंचायतें प्रदेश में हो गई है।सभी ग्राम पंचायत में पंचायत भवन का निर्माण किया जाएगा।
  • सजावटी मछलियों के लिए शिमला व कांगड़ा में एक ईकाई स्थापित होगी। ट्राउट मछलियों के 100 केंद्र साथापिर किए जाएंगे। पशुपालकों को विशेषज्ञ सुविधा देने के लिए आधुनिक उपकरण उपलब्ध करवाएं जाएंगे। इस पर पांच करोड़ का राशि खर्च होगी।
  • आईटीआई में स्थानों में वीडियो कान्फ्रेसिंग की सुविधा होगी।

  • क्लास वन और टू कर्मचारियों को हर साल ऑनलाइन देना होगा संपत्ति का ब्यौरा।
  • जायका के पहले चरण की 5 जिलों में सफलता को देखते हुए इसके सभी 12 जिलों में भी शुरु करनेकी योजना है। 60 डीपीआर तैयार करने का काम किया जा रहा है।1लाख 5 हजार 200 लोगों ने प्राकृतिक खेती को अपनाया गया है और अगले वित्त वर्ष में 50 हजार लोगों को और जोड़ा जाएगा और 1 लाख किसानों को जागरूक किया जाएगा और इसके विपणन और उत्पादों को अलग पहचान देने के और किसानों को प्रमाणित करने के लिए 20 करोड़ के बजट का प्रबंध किया गया है।
  • प्रदेश के बागवानों को उचित दाम पर उत्तम नस्ल के High Density पौधे उपदान पर उपलब्ध करवाने के लिए नई “स्वर्ण जयन्ती समृद्ध बागवान योजना” आरम्भ की जाएगी।
  • अब योजना विभाग का नाम नीति विभाग होगा। विकास में जन सहयोग के लिए वित्तीय बजट को दोगुना किया जाएगा।नाबार्ड से विधायक को मिलने वितीय राशि 120 से बढ़ाकर 135 करोड़ किया गया।विधायक निधि को वर्ष 2021-22 में पूर्व रूप से बहाल किया जाएगा।और निधि को175 से बढ़ाकर 180 करोड़ करने की घोषणा की गई है। विधायक निधि सेमहिला मंडल, युवक मंडल और स्वयं सहायता समूह को 50 हजार तक दे सकते है।
  • 25 जनवरी, 2021 को सरकार ने प्रदेश के स्थापना दिवस को स्वर्णिम दिवस के  रूप में मनाने का लिया है और वर्ष भर कार्यक्रम आयोजित करने का निर्णय लिया है। आर्थिक सर्वेक्षण में अगले वर्ष 11% आर्थिक वृद्धि का अनुमान लगाया गया है। जीडीपी की दर नेगटिव से पॉजिटिव आ गई  है।
  • वित्त वर्ष 2020-21 कोरोना महामारी वाला रहा है जिसके बारे में किसी ने नहीं सोचा था।लॉकडाउन ही एक रास्ता महामारी से बचाव का था। जिसमें सरकार के सामने लोगों की जान बचाना भी चुनौती था और लोगों को आर्थिक मदद पहुंचना भी दूसरी चुनौती था। सीएम ने कोरोना महामारी में अपनी जान जोखिम में डाल कर बेहतर सेवाएं देने वाले स्वास्थ्य कर्मियों का भी आभार व्यक्त किया साथ ही महामारी में जान गंवाने वाले लोगों को श्रद्धांजलि भी अर्पित की।

सीएम ने इस शे’र के साथ बजट भाषण की शुरुआत की

हार हो जाती है जब मान लिया जाता है

जीत तब होती है जब ठान लिया जाता है

 

इससे पहले सीएम ठाकुर जयराम दस्तावेज लेकर विधानसभा पहुंचे। कोरोना काल में सीएम के लिए ये बजट (Budget) चुनौतीपूर्ण होगा। इस बार का बजट स्वास्थ्य, शिक्षा, लोक निर्माण, कृषि, कर्मचारियों, पेंशनरों के वेतन-भत्तों पर बजट केंद्रित होगा। सरकार अनुबंध का कार्यकाल तीन वर्ष से घटाकर दो वर्ष कर सकती है। दिहाड़ीदारों, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, अंशकालिक जलवाहकों का ध्यान रखा जाएगा। पर्यटन कारोबार को पुनर्जीवित करने के लिए नई योजनाएं बजट का प्रावधान हो सकता है। स्वरोजगार के अवसर पैदा करने के लिए स्वावलंबन व स्टार्टअप पर बजट का फोकस रहेगा।

यह भी पढ़ें: बजट से एक दिन पहले #Jairam ने पेश की आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट- क्या नफा क्या नुकसान-जाने

 

 

सीएम की ओर से पेश किए गए पहले तीन बजट में नई योजनाएं घोषित की गई थी। हर बजट में घोषित नई योजनाओं के लिए बजट प्रावधान किया गया। संभवत: चौथे बजट में भी कुछ नई योजनाओं की घोषणा हो सकती है। पहले बजट में 27 योजनाएं, दूसरे बजट में 15 नई योजनाएं और तीसरे बजट में 25 नई योजनाएं घोषित की थीं। इससे पहले सीएम जयराम ने शुक्रवार सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) ने बजट पेश करने से एक दिन पहले हिमाचल प्रदेश आर्थिक सर्वेक्षण 2020-21 (Economic Survey 2020-21) रिपोर्ट विधानसभा (Vidhan Sabha) में प्रस्तुत किया।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है