Covid-19 Update

1,99,467
मामले (हिमाचल)
1,92,819
मरीज ठीक हुए
3,404
मौत
29,685,946
मामले (भारत)
177,559,790
मामले (दुनिया)
×

जयराम का ऐलान- एमफिल, पीएचडी करने वालों की वेतन वृद्धि बहाल करने पर होगा विचार

जयराम का ऐलान- एमफिल, पीएचडी करने वालों की वेतन वृद्धि बहाल करने पर होगा विचार

- Advertisement -

शिमला। सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) ने कहा कि एमफिल और पीएचडी करने वालों की वेतन वृद्धि बहाल करने और यूजीसी (UCG) के मापदंडों के अनुरूप महाविद्यालयों में प्रोफेसर का पद सृजित करने संबंधी प्रवक्ताओं की मांग पर सरकार विचार करेगी। इसके अतिरिक्त विभागीय परीक्षाओं से छूट देने संबंधी मांग पर भी विचार किया जाएगा। यह बात सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) ने राजकीय महाविद्यालय चौड़ा मैदान में हिमाचल प्रदेश महाविद्यालय शिक्षक संघ द्वारा ‘राष्ट्र निर्माण के लिए उच्च शिक्षा’ विषय पर आयोजित राष्ट्रीय सम्मेलन में कही।

यह भी पढ़ें: Manali में होगा लाइट एंड साउंड कार्यक्रम, जयराम ने किया ऐलान

सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) ने कहा कि विद्यार्थियों को विश्व स्तरीय अध्ययन पद्धतियों की सुविधा प्रदान करने के प्रयास होने चाहिए तथा उनकी शिक्षा पर ध्यान केंद्रित करने के साथ-साथ उन्हें रोजगार प्रदान करने की चुनौती का भी सामना करने की आवश्यकता है। आज के दौर में डिजिटल प्रौद्योगिकी का अधिक से अधिक उपयोग करने की आवश्यकता है, क्योंकि तकनीक के अधिकाधिक प्रयोग से विद्यार्थियों को समय, पहुंच और स्थान की सीमाओं से छूट मिलती है। तकनीक के कारण शिक्षा अधिक लचीली, सुलभ और व्यक्तिगत बन गई है। जयराम ठाकुर ने कहा कि हिमाचल प्रदेश देश का पहला राज्य है, जहां जनसंख्या अनुपात में कर्मचारी सर्वाधिक हैं। प्रदेश सरकार निजी क्षेत्र के माध्यम से युवाओं को रोजगार और स्वरोजगार के अवसर प्रदान करने के प्रयास कर रही है।


हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group…

सीएम ने इस अवसर पर सेंटर ऑफ एक्सीलेंस शिमला में अर्थशास्त्र के एसोशिएट प्रोफेसर डॉ. जीपी कपूर की पुस्तक ‘मिलेनियम एजुकेशन फोर नेशन बिल्डिंग’ तथा आयोजकों द्वारा तैयार की गई स्मारिका का विमोचन किया। शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने इस अवसर पर कहा कि शिक्षा का मुख्य उद्देश्य समाज की भलाई के लिए ज्ञान अर्जित करना होना चाहिए। उन्होंने कहा कि देश में कुछ राष्ट्र विरोधी तत्व उभर रहे हैं और यह आवश्यक है कि उन्हें शैक्षणिक संस्थानों का अनुचित इस्तेमाल करने से रोका जाए। अखिल भारतीय शिक्षक संघ की अध्यक्ष जगदीश प्रसाद सिंघल ने कहा कि शिक्षकों को राष्ट्र निर्माण और विश्व गुरू का वैभव पुनः प्राप्त करने के लिए आगे आना चाहिए। शिक्षा का ध्येय चरित्र निर्माण होना चाहिए तभी यह राष्ट्र निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती है। राष्ट्रीय संगठन सचिव महेंद्र कपूर ने कहा कि संगठन देश के 25 राज्यों तक फैला है। महाविद्यालय शिक्षक संघ के राज्य प्रांत प्रमुख रविंद्र ठाकुर ने सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) व अन्यों का स्वागत किया।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस Link पर Click करें…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है