Covid-19 Update

2,00,603
मामले (हिमाचल)
1,94,739
मरीज ठीक हुए
3,432
मौत
29,973,457
मामले (भारत)
179,548,206
मामले (दुनिया)
×

जयराम बोले- दुराचार मामले को लेकर सरकार गंभीर, विपक्ष ने घेरा

जयराम बोले- दुराचार मामले को लेकर सरकार गंभीर, विपक्ष ने घेरा

- Advertisement -

शिमला। ढली दुराचार मामले में सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) ने कहा है कि दोषियों को किसी भी सूरत में बक्शा नहीं जाएगा। उनके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। उन्होंने कहा कि मामले को लेकर कुछ साक्ष्य हाथ लगे हैं। दोषी जल्द सलाखों के पीछे होंगे। जयराम ठाकुर ने कहा कि चुनाव बेला है विरोधी राजनीतिक रूप देने की कोशिश कर रहे हैं। लेकिन, हम मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए इसे गंभीरता से ले रहे हैं। मामले में दोषी के बचने की संभावनाएं बिल्कुल भी नहीं छोड़ी जाएंगी। उन्होंने कहा कि मामले में एसआईटी (SIT) का गठन किया गया है। साथ ही मामले की न्यायिक जांच के आदेश दिए हैं। 24 घंटे के अंदर रिपोर्ट मांगी है।
उधर, कांग्रेस (Congress) ने हिमाचल में बिगड़ी कानून व्यवस्था को लेकर राज्यपाल (Governer) को ज्ञापन सौंपा। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप राठौर (Kuldeep Singh Rathore) ने कहा कि  पिछले कल शिमला (Shimla) में हुई बलात्कार की घटना से राजधानी शर्मशार हुई है। उन्होंने कहा है कि इस से बड़ी पुलिस की लाचारी ओर क्या हो सकती है कि पीड़ित महिला ने पुलिस से सुरक्षा मांगी जो उसे नहीं दी गई। राठौर ने इसे सरकार की कमजोरी बताते हुए कहा कि बीजेपी (BJP) सरकार महिलाओं की सुरक्षा की बड़ी-बड़ी बातें तो करती है पर सुरक्षा में जुटी पुलिस ने पूरी व्यवस्था की पोल खोल दी है।  राठौर ने दोषी पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग करते हुए आरोपियों को तुरंत सलाखों के पीछे करने को कहा है।
ऊना। नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्रिहोत्री (Mukesh Agnihotri) ने कहा कि कत्ल व रेप की घटनाओं ने प्रदेश की जयराम सरकार का जनाजा निकाल दिया है। कानून-व्यवस्था (Law and order) इस कद्र बिगड़ गई है कि अपराधियों के हौंसले बढ़ गए हैं, जिसके चलते शिमला में एक युवती के साथ दुष्कर्म हुआ है। ये मामला पूरी तरह पुलिस की नाकामी है। गुड़िया कांड पर हंगामा वाली बीजेपी बताएं कि राजधानी में किस प्रकार से दुष्कर्म हुआ है। आखिर पुलिस ने क्यों युवती की शिकायत को नहीं सुना। यदि पुलिस युवती की शिकायत पर कार्रवाई करती तो बड़ी घटना को रोका जा सकता था।
वहीं, भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) शिमला ने  कहा कि देवभूमि हिमाचल व शिमला जैसे शांत व सुरक्षित शहर में इस प्रकार की घटना का घटित होना कानून-व्यवस्था पर बड़ा प्रश्नचिन्ह लगाती है। पिछले कुछ समय से प्रदेश में इस प्रकार के अपराधियों घटनाओं की संख्या बढ़ रही है। हत्या व महिलाओं के प्रति अपराध जिसमें विशेष रूप से बलात्कार के मामलों में बहुत वृद्धि दर्ज की गई हैं। यदि सरकार तुरंत दोषियों को पकड़ कर कानूनी कार्रवाई नहीं करती व कानून-व्यवस्था को चुस्त-दुरुस्त नहीं करती तो सीपीएम उग्र आंदोलन करेगी।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है