Covid-19 Update

1,54,664
मामले (हिमाचल)
1,15,610
मरीज ठीक हुए
2219
मौत
24,372,907
मामले (भारत)
162,538,008
मामले (दुनिया)
×

#Jairam बोले- हिमाचल ने दिसंबर 2020 तक राजस्व में 25 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की

पिछले वर्ष के 619 करोड़ रुपये के मुकाबले, 772 करोड़ रुपये का राजस्व अर्जित

#Jairam बोले- हिमाचल ने दिसंबर 2020 तक राजस्व में 25 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की

- Advertisement -

शिमला। सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai ram (Thakur) ने कहा कि हिमाचल ने दिसंबर, 2019 तक की राजस्व प्राप्तियों की तुलना में दिसंबर, 2020 तक आबकारी और कराधान विभाग के सभी हैड्‌स से राजस्व प्राप्तियों में 25 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की है। पिछले वर्ष इसी अवधि के दौरान 619 करोड़ रुपये के मुकाबले इस वर्ष दिसंबर, 2020 तक 772 करोड़ रुपये का राजस्व (Revenue) अर्जित किया गया। यह सकारात्मक रूझान पिछले चार महीनों से निरंतर जारी है। विभाग के राजस्व में अगस्त के दौरान 15 प्रतिशत, सितंबर में 10 प्रतिशत, अक्टूबर में 37 प्रतिशत और नवंबर, 2020 में 9 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।


यह भी पढ़ें: भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए एक गुड न्यूज, #GST का 1.15 लाख करोड़ रिकार्ड कलेक्शन

सीएम जयराम ठाकुर ने यहां जानकारी देते हुए कहा कि दिसंबर 2020 में मूल्य वर्धित कर वैट में 45 फीसदी, कराधान राजस्व में 29 प्रतिशत और राज्य वस्तु एवं सेवा कर जीएसटी (GST) में 16 फीसदी की महत्वपूर्ण वृद्धि दर्ज की गई। राजस्व प्राप्तियों में यह उल्लेखनीय वृद्धि आर्थिक गतिविधियों की बहाली, सरकार की अनलॉक रणनीति, करदाताओं द्वारा बेहतर अनुपालन और विभाग द्वारा प्रभावी प्रशासन के कारण संभव हुई है। जयराम ठाकुर ने कहा कि कोविड 19 के बावजूद वर्तमान वित्त वर्ष और पिछले वित्तीय वर्ष के संचयी राजस्व के बीच का अंतर दिसेबर 2020 में घटकर सात प्रतिशत रह गया जो जुलाई 2020 में 39 फीसदी था।


सीएम ने कहा कि इसके अलावा प्रदर्शन कार्ड के माध्यम से फील्ड इकाइयों की निगरानी की नई पहल ने फील्ड अधिकारियों के बीच स्वस्थ्य प्रतिस्पर्धा कार्य वातावरण तैयार किया है जहां प्रत्येक प्राधिकरण निर्धारित लक्षय हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत करने के लिए प्रेरित होता है। इससे प्रदेश की राजस्व प्राप्तियों में वृद्धि लाने में सहायता मिली है। मुख्यालय स्तर पर बढ़ी हुई विश्लेष्णात्मक और डेटा संचालित क्षमताओं के कारण क्षेत्रीय इकाइयों के प्रयासों को और अधिक मजबूती मिली है। उन्होंने कहा कि राज्य की राजस्व प्राप्तियों को बढ़ाने के लिए लीगेसी मामलों के समाधान योजना के हत वसूली, ईवे बिल का भौतिक सत्यापन, जीएसटी तीनबी रिटर्न भरने का अनुपालन, रिटर्न देरी से भरने पर ब्याज वसूली, अनुचित आइटीसीएस (ITCS) वसूली और टैक्स चोरी से वसूली जैसे मुख्य क्षेत्रों की पहचान की गई है। जयराम ठाकुर ने कहा कि कर चोरी से संबंधित मामलों की पहचान और राज्य के राजस्व को बढ़ाने के लिए राज्य की राजस्व हानि के तरीकों की पहचान पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है।

यह भी पढ़ें: Himachal Statehood Day पर 51 का प्लान, क्या बोले जयराम ठाकुर- जानिए

वहीं, सीएम जयराम ठाकुर ने पत्नी डॉ. साधना ठाकुर के साथ नववर्ष के अवसर पर प्रसिद्ध जाखू मन्दिर में पूजा-अर्चना की। सीएम ने इस दौरान मंदिर परिसर का भ्रमण भी किया और मन्दिर के सुधार एवं सौन्दर्यीकरण के लिए उचित दिशा-निर्देश जारी किए। उन्होंने इस अवसर पर स्थानीय लोगों और पर्यटकों के साथ बातचीत की। शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज, महापौर सत्या कौंडल, वरिष्ठ बीजेपी नेता दीपक सूद, डीसी आदित्य नेगी, एसपी मोहित चावला और बीजेपी के स्थानीय नेता भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है