×

Jairam के निर्देशः स्वयं सहायता समूहों, आपदा प्रबंधन के प्रशिक्षित स्वयंसेवियों की लो मदद

Jairam के निर्देशः स्वयं सहायता समूहों, आपदा प्रबंधन के प्रशिक्षित स्वयंसेवियों की लो मदद

- Advertisement -

शिमला। सीएम जयराम ठाकुर (CM Jairam Thakur)ने आज यहां कहा कि आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति कर रहे वाहनों की नियमित रूप से निगरानी की जा रही है, ताकि लोगों को आवश्यक सामग्री उपलब्ध हो सके। उन्होंने कहा कि आज पड़ोसी राज्यों की सीमा के साथ लगते जिलों बिलासपुर, कांगड़ा, चंबा, सिरमौर, सोलन और ऊना में आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति की गई। उन्होंने कहा कि उपायुक्तों को निर्देश दिए गए हैं कि कोविड-19 (COVID-19) से निपटने के लिए स्वयं सहायता समूहों और आपदा प्रबंधन के चार हजार प्रशिक्षित स्वयंसेवियों की सहायता ली जाए। लोगों को उनके घरों तक आवश्यक सामग्री पहुंचाने के लिए इनकी सहायता ली जा सकती है, ताकि सामाजिक दूरी बनी रहे तथा लोगों को कोरोना वायरस (Coronavirus)के बारे में जागरूक किया जा सके।


सीएम ने कहा कि उपायुक्तों से कहा गया है कि स्वयं सहायता समूहों और स्वयंसेवियों को अपनी सुरक्षा और सामाजिक दूरी बनाए रखने के लिए जागरूक किया जाए। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने कोविड-19 के नियंत्रण के लिए स्वयंसेवियों को पंजीकृत करने के लिए एक वेबसाइट (website) शुरू की है और अभी तक 200 से अधिक स्वयंसेवियों ने अपना पंजीकरण करवाया है। जयराम ठाकुर ने कोविड-19 से बचाव एवं नियंत्रण के लिए सहयोग देने के लिए प्रदेश के सभी वर्गों का आभार व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि शुक्रवार तक कोविड-19 के 152 संदिग्ध मामलों की जांच की गई, जिनमें से 149 सेंपल नेगेटिव पाए गए और केवल तीन में इस संक्रमण की पुष्टि हुई है। उन्होंने लोगों से आग्रह किया है कि सरकार द्वारा समय-समय पर जारी की जाने वाली स्वास्थ्य संबंधी सलाह की अनुपालना करें और जिन्होंने पिछले 14 दिनों में विदेश यात्रा की है, वे 104 हेल्पलाइन नंबर पर इसकी जानकारी दें तथा भारत में आने की तिथि से 28 दिनों तक अलगाव में रहें।

उन्होंने बताया कि अन्य राज्यों की सीमा के साथ लगने वाले जिलों बिलासपुर, चंबा, कांगड़ा, सिरमौर, सोलन और ऊना जिला से आज एलपीजी, डीजल, पेट्रोल, दूध, सब्जियां व किराना, दवाइयों और चारे की आपूर्ति की गई। सीएम ने बताया कि आज दोपहर 2 बजे तक बिलासपुर जिला में एलपीजी के दो वाहन, डीजल व पेट्रोल के तीन, दूध के 10, किराना व सब्जी के सात और दवाइयों के चार वाहनों द्वारा आपूर्ति की गई।जिला चंबा में एलपीजी के तीन, डीजल व पेट्रोल के दो, दूध के छह, किराना व सब्जी के 13 और दवाइयों के दो वाहनों के माध्यम से आपूर्ति सुनिश्चित की गई।

जयराम ठाकुर ने कहा कि जिला कांगड़ा में एलपीजी के 21, डीजल व पेट्रोल के 11, दूध के 63, सब्जियों व किराना के 233, दवाइयों के एक वाहन और चारे के दो वाहनों द्वारा आपूर्ति की गई। सिरमौर जिला में दूध के 32 वाहनों, किराना और सब्जी के नौ वाहनों द्वारा आपूर्ति की गई। सोलन में एलपीजी के 56 वाहनों, डीजल व पेट्रोल के सात, दूध के 43, किराना व सब्जी के 297 और दवाइयों के 58 वाहनों द्वारा आपूर्ति सुनिश्चित की गई।  सीएम ने बताया कि ऊना जिला में एलपीजी के सात, डीजल व पेट्रोल के 10, दूध के 18, किराना व सब्जी के 33, दवाइयों के सात और चारे के छह वाहनों द्वारा आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति की गई।

जयराम ठाकुर ने कहा कि अन्य राज्यों की सीमा से लगते राज्य के जिलों में आज दोपहर 2 बजे तक एलपीजी के कुल 89 वाहनों, डीजल व पेट्रोल के 33, दूध के 172, किराना व सब्जी के 592, दवाइयों के 72 और चारे के आठ वाहनों द्वारा प्रदेश में आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति सुनिश्चित की गई। उन्होंने कहा कि प्रदेश में सभी आवश्यक वस्तुएं समुचित मात्रा में उपलब्ध हैं तथा किसी भी क्षेत्र में किसी भी वस्तु की कोई कमी नहीं है। सभी क्षेत्रों में मांग के अनुसार आवश्यक वस्तुओं की समयबद्ध आपूर्ति की जा रही है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है