Covid-19 Update

2,00,043
मामले (हिमाचल)
1,93,428
मरीज ठीक हुए
3,413
मौत
29,821,028
मामले (भारत)
178,386,378
मामले (दुनिया)
×

अंतरराष्ट्रीय रेणुकाजी मेला शुरू, सीएम ने भगवान परशुराम की पालकी को दिया कंधा

अंतरराष्ट्रीय रेणुकाजी मेला शुरू, सीएम ने भगवान परशुराम की पालकी को दिया कंधा

- Advertisement -

रेणुकाजी। आलौकिक, अद्भुत, अविस्मरणीय। प्रदेश की समृद्ध लोक संस्कृति का प्रतीक अंतरराष्ट्रीय श्री रेणुकाजी मेला रविवार को श्रद्धा व उल्लास के साथ शुरू हुआ। प्रदेश के सीएम जयराम ठाकुर ने भगवान परशुराम की पालकी को कंधा देकर मेले का विधिवत शुभारंभ किया। करीब दो बजे सीएम का चौपर माइना गांव पहुंचा।
यहां से सीएम का काफिला सड़क मार्ग से स्कूल मैदान पहुंचा, जहां उन्होंने विधिवत पूजा अर्चना के बाद भगवान परशुराम की पालकी को कंधा देकर विशाल शोभायात्रा का शुभारंभ किया। सीएम ही देवपालकी को कंधा देकर शोभायात्रा का शुभारंभ करते हैं। यही परंपरा कई दशकों से चली आ रही है। पिछले साल आचार संहिता लागू होने के कारण तत्कालीन सीएम वीरभद्र सिंह को मेले के शुभारंभ की अनुमति नहीं मिल पाई थी। लिहाजा, तत्कालीन उपायुक्त ने शोभायात्रा का शुभारंभ किया था। जबकि, मेले के समापन मौके पर राज्यपाल देवताओं की पालकियों की देवस्थलों के लिए रवानगी करते हैं।
बहरहाल, शोभायात्रा दोपहर बाद करीब पौने तीन बजे स्थानीय खेल मैदान से शुरू होकर ददाहू बाजार, गिरिपुल, बड़ोन, देवशिला व मेला मैदान से होते हुए शाम ढलने से पूर्व रेणुकाजी तीर्थ के त्रिवेणी संगम पर पहुंची। जहां देवताओं का पारंपरिक मिलन हुआ। इस मिलन को नजदीक से निहारने व इस पावन पलों के साक्षी बनने के लिए हजारों श्रद्धालुओं का हुजूम मेले में दिखाई दिया। प्राकृतिक लोक वाद्य यंत्रों, शंख, घंटियाल, ढोल-नगाड़ों, बैंड बाजे के साथ निकाली गई। इससे रेणुका की वादियां भक्तिमय हो उठीं। शोभायात्रा में भगवान परशुराम के प्राचीन जामू मंदिर, कटाह मंदिर, माशू देवता मंदिर व मंडलाह के मंदिरों से लाई गई देव पालकियां भारी आकर्षण का केंद्र बनी रहीं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है