Covid-19 Update

2,06,589
मामले (हिमाचल)
2,01,628
मरीज ठीक हुए
3,507
मौत
31,767,481
मामले (भारत)
199,936,878
मामले (दुनिया)
×

मवेशियों की खरीद-फरोख्त पर रोकः Virbhadra ने कट्टरवादी सोच बताया

मवेशियों की खरीद-फरोख्त पर रोकः Virbhadra ने कट्टरवादी सोच बताया

- Advertisement -

केंद्र सरकार ने मवेशियों को बाजार में बेचने लगाया है प्रतिबंध

CM Virbhadra: शिमला। काटे जाने के मकसद से मवेशियों की खरीद फरोख्त पर केंद्र सरकार द्वारा लगाए गए प्रतिबंध को सीएम वीरभद्र सिंह ने कट्टरवादी सोच करार दिया है। सीएम वीरभद्र सिंह ने मवेशियों को पशु बाजार में बेचने पर लगाए प्रतिबंध को लेकर कहा कि देश के लिए ऐसा फरमान ठीक नहीं। उन्होंने कहा कि पूरा देश गौ माता की पूजा और इज्जत करता है। उन्होंने कहा कि ऐसे फैसले से आम लोगों का रोजगार छिन जाएगा और ऐसे काम सिर्फ कट्टरवादी सोच वाले ही करते हैं। सीएम वीरभद्र सिंह ने पर्यावरण मंत्रालय के जानवरों को बेचे जाने पर लगाए गए प्रतिबंध को लेकर कड़ी टिप्पणी की है। वीरभद्र सिंह ने केंद्र सरकार के फैसलें को कट्टरवादी सोच का परिणाम बताया है।

पूरे देश में लागू होगा नियम

गौरतलब है कि पर्यावरण मंत्रालय ने पशु बाजार में जानवरों के कत्ल करने के मकसद से बेचे जाने पर प्रतिबंध लगा दिया है। यह नियम पूरे देश में लागू होगा। इसके साथ ही अब मवेशियों को खरीदने वालों को अब एक घोषणा पत्र देना होगा, जिसमें यह सुनिश्चित किया जाएगा कि बेचे जाने वाले जानवरों का कत्ल नहीं किया जाएगा। इस कदम को मोदी सरकार की गऊओं को बचाने की भावनात्मक कवायद के रूप में भी देखा जा रहा है। इस फैसले को अमल में लाने के लिए 3 महीने का वक्त दिया गया है।


मवेशियों के खिलाफ क्रूरता रोकना है मकसद

पर्यावरण मंत्रालय ने द प्रीवेंशन ऑफ क्रुएलिटी टु एनिमल्स (रेगुलेशन ऑफ लाइवस्टॉक मार्केट्स) नियम 2017 को नोटिफाई कर दिय़ा है। इस नोटिफ़िकेशन का मक़सद मवेशी बाजार में जानवरों की खरीद-बिक्री को रेगुलेट करने के साथ मवेशियों के खिलाफ क्रूरता रोकना है। इस नोटिफ़िकेशन के बाद नियमों के मुताबिक मवेशी को बाजार में खरीदने या बेचने लाने वाले को ये सुनिश्चित करना होगा कि मवेशी को बाजार में कत्ल के मकसद से खरीदने या बेचने के लिए नहीं लाया गया है।

MC Election का रोनाः Virbhadra-Dhumal की एक-दूसरे पर छींटाकशी

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है