×

CM की दो टूकः बेरोजगारी भत्ता कोई बुढ़ापा और विधवा Pension नहीं

CM की दो टूकः बेरोजगारी भत्ता कोई बुढ़ापा और विधवा Pension नहीं

- Advertisement -

मंडी। बेरोजगारी भत्ता कोई बुढ़ापा व विधवा पेंशन नहीं है, जोकि पूरी जिदंगी मिले। यह एक गलत धारणा है। युवाओं को रोजगार के लिए निपुण बनाना सरकार का कार्य है। यह बात सीएम वीरभद्र सिंह ने मंडी में कही। सीएम वीरभद्र सिंह ने बेरोजगारी भत्ता देने की बात से साफ इंकार कर दिया है और कह दिया है कि उन्होंने घोषणा पत्र में बेरोगारी भत्ता देने का कोई वादा नहीं किया था। सीएम के अनुसार उन्होंने कौशल विकास भत्ता देने की बात कही थी, जो बेरोजगारों को दिया जा रहा है। मंडी दौरे पर आए सीएम वीरभद्र सिंह ने पत्रकारों के साथ बातचीत की और कहा कि बेरोजगारी भत्ता देना किसी भी सरकार के बस में नहीं है। उन्होंने कहा कि चाहे cm2केंद्र सरकार हो या फिर राज्य सरकार, बेरोजगारी भत्ता देना संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि सरकार हर वर्ष कौशल विकास भत्ते पर 100 करोड़ रुपए खर्च कर रही है और अब इसके लिए 550 करोड़ के अतिरिक्त बजट का प्रावधान भी कर दिया गया है। वहीं सीएम वीरभद्र सिंह से जब कुल्लू जिला के बंजार में पकड़े गए आईएसआईएस के आतंकी को लेकर पूछा गया तो उन्होंने कहा कि पकड़ा गया आतंकी आईएसआईएस का है या नहीं इस बारे में अभी तक कोई जानकारी नहीं है। उन्होंने कहा कि केंद्रीय जांच ऐजैंसियां उसकी तलाश में थी और अब इस मामले को केंद्रीय जांच ऐजैंसियां और प्रदेश सीआईडी देख रही है। उन्होंने कहा कि अभी तक पकड़े गए आतंकी द्वारा किसी भी प्रकार की देश विरोधी गतिविधि को अंजाम देने की बात सामने नहीं आई है और भविष्य में जो भी जानकारी इस संदर्भ में मिलेगी तो उसे सभी के साथ शेयर किया जाएगा।


  • युवाओं को रोजगार के लिए निपुण बनाना सरकार का कार्य
  • सीएम बेरोजगारी भत्ता देने से साफ इंकार किया
  • बोले, बेरोजगारी भत्ता देना किसी भी सरकार के बस में नहीं

जब महिलाएं सशक्त होंगी, तभी क्षेत्र का विकास संभव

सीएम वीरभद्र सिंह ने शुक्रवार को मंडी में ‘मंडी विकास अभियान सम्मान समारोह की अध्यक्षता करते हुए कहा कि मंडी जिला ने स्वच्छता के क्षेत्र में उल्लेखनीय प्रगति कर राष्ट्र में बड़ी उपलब्धि हासिल की है। उन्होंने लोगों का आह्वान किया कि स्वच्छता अभियान को जीवन शैली का हिस्सा बनाएं और जीवन प्रयन्त इसका पालन करें तथा अगली पीढ़ी को इसे अपनाने के लिए प्रेरित करें। सीएम ने कहा कि किसी भी क्षेत्र का विकास तभी संभव है, जब महिलाएं सशक्त हों और समाज के आर्थिक-सामाजिक विकास में उनका सक्रिय योगदान हो। वीरभद्र सिंह ने युवाओं का आह्वान किया कि वे अपनी अभिरूचि के अनुरूप कौशल विकास के कार्यक्रम से जुड़े, क्योंकि cm3कौशल विकास के प्रशिक्षण से ही प्रदेश के सभी युवाओं को स्थायी रोज़गार देना संभव हो सकेगा।

  • मंडी में बोले सीएम वीरभद्र सिंह, युवाओं से आह्वान

उन्होंने कहा कि प्रदेश के प्रत्येक युवा को किसी न किसी हुनर में प्रशिक्षित किया जाएगा और उन्हें इतना सक्षम बनाया जाएगा, जिससे उन्हें प्रशिक्षण के उपरान्त तुरन्त रोजगार मिल सके। उन्होंने कहा कि सही प्रशिक्षण और इच्छा शक्ति से ही बेरोजगारी की समस्या पूरी तरह समाप्त हो सकेगी। सीएम ने कहा कि कांग्रेस के कार्यकाल के दौरान पूरे प्रदेश का समान एवं चहुंमुखी विकास हुआ है और प्रदेश में खुशहाली का दौर आरम्भ हुआ है। इस अवसर पर मंडी के उपायुक्त संदीप कदम ने अवगत करवाया कि एक वर्ष के दौरान मंडी विकास अभियान में 490 महिला मंडलों एवं स्वयं सहायता समूहों के सहयोग से इनकी संख्या बढ़कर 4490 गई हैं। इस अभियान के तहत महिला मंडलों व स्वंय सहायता समूहों ने जो कार्य किए हैं, उनसे पूरे जिले में आर्थिक गतिविधियां बढ़ी हैं और स्वरोजगार के अवसर भी सृजित हुए हैं।

cm1बल्ह घाटी के भंगरोटू में किया वृद्धाश्रम का शुभारंभ

सीएम वीरभद्र सिंह ने आज नेरचौक उपमंडल के भंगरोटू में बल्ह वैली कल्याण सभा द्वारा संचालित वृद्धाश्रम भवन के द्वितीय चरण के उद्घाटन के उपरांत आश्रम के सभागर में उपस्थित जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि आश्रय न होने व देखभाल करने वालों के अभाव के कारण वर्तमान में सरकार द्वारा वृद्धाश्रमों का निर्माण किया जा रहा है। सरकार द्वारा अन्य संस्थाओं द्वारा संचालित वृद्ध आश्रमों में भी  सुविधाएं उपलब्ध करवाई जा रही हैं। सीएम ने कहा कि प्रदेश सरकार गरीब, असहाय व कमजोर वर्गों के कल्याण के प्रति वचनबद्ध है तथा सरकार द्वारा उनके कल्याण के लिए अनेक योजनाएं व कार्यक्रम आरम्भ किए गए हैं। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही नेरचौक में स्थित मेडिकल कॉलेज को आरम्भ कर दिया जाएगा ताकि क्षेत्र के लोगों को उनके घरद्वार पर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध हो सकें।

cmबार एसोसिएशन न्यायिक व्यवस्था की रीढ़

सीएम वीरभद्र सिंह ने शुक्रवार देर शाम सुंदरनगर में बार एसोसिएशन द्वारा आयोजित कार्यक्रम में अधिवक्ताओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि बार एसोसिएशन देश की न्यायिक व्यवस्था की रीढ़ हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा राज्य में न्यायिक कार्यों के कार्यान्वयन को सुदृढ़ करने के लिए अनेक कदम उठाए गए हैं। उन्होंने कहा कि गरीब से गरीब, कमजोर वर्गों तथा अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति वर्ग के लोगों को बिना किसी देरी से न्याय प्रदान करना समय की मांग है। उन्होंने सुंदरनगर में लिटिजेंट शैड निर्माण के लिए धनराशि उपलब्ध करवाने का भी आश्वासन दिया। मुख्यमंत्री ने बार एसोसियेशन के पुस्तकालय तथा फर्नीचर के लिए 5 लाख रुपये प्रदान करने की भी घोषणा की।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है