×

अब CM की मंजूरी के बिना नहीं होगी चिकित्सकों की Transfer

अब CM की मंजूरी के बिना नहीं होगी चिकित्सकों की Transfer

- Advertisement -

जुन्गा में सीएम ने स्वास्थ्य विभाग को दिए निर्देश

cm virbhadra singh order : शिमला। चिकित्सकों के स्थानांतरण और तैनाती से पहले सीएम से स्वीकृति लेना जरूरी हो और चिकित्सकों की दूरदराज व ग्रामीण क्षेत्रों में तैनाती पर प्राथमिकता दी जानी चाहिए। सीएम वीरभद्र सिंह ने निर्देश आज स्वास्थ्य विभाग को  दिए। सीएम वीरभद्र सिंह आज जुन्गा के निकट अश्विनी खड्ड पर 1.66 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले पुल तथा जुन्गा में 4.80 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान की आधारशिला रखने के उपरांत जुन्गा में एक जनसभा को सम्बोधित कर रहे थे। सीएम ने कहा कि यदि कोई चिकित्सक व पैरामेडिकल स्टाफ उनके तैनाती वाले स्थान पर अनुपस्थित पाया जाता है, तो उसके विरूद्ध सरकार द्वारा कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ग्रामीण क्षेत्रों में तैनात चिकित्सकों के लिए नीति बनाएंगी, जिसमें निर्धारित अवधि पूरी करनी होगी और लोगों की समर्पण की भावना से सेवा करना शामिल किया गया है और चिकित्सकों को इस व्यवसाय को केवल आय अर्जित करने का साधन के रूप में नहीं अपनाना चाहिए, बल्कि उन्हें पीड़ित मानवता की सेवा करनी चाहिए।


ये भी पढ़ें: CM पहुंचे बैंटनी कैसल, अफसरों से ली जानकारी

उन्होंने कहा कि वर्तमान में लोगों द्वारा चिकित्सा व्यवसाय को धन अर्जित करने का साधन चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि चिकित्सक आज अपने स्थानान्तरण को रुकवाने तथा पसंदीदा स्थल पर नियुक्ति करवाने में व्यस्त रहते हैं और दूरदराज व ग्रामीण क्षेत्रों में जाने से गुरेज करते हैं।  उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने गत चार वर्षों के दौरान अनेक चिकित्सकों व पैरामेडिकल स्टाफ की नियुक्ति की है और प्रदेश के दूरदराज व ग्रामीण क्षेत्रों में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र व सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र खोले हैं, लेकिन इन संस्थानों में कर्मचारियों और चिकित्सकों की कमी पाई जाती है। उन्होंने कहा कि जब भी वे दौरे पर जाते हैं, उन्हें लोगों से स्वास्थ्य संस्थानों में खाली पदों के रिक्त होने की शिकायतें प्राप्त होती हैं। स्वास्थ्य विभाग को इन मामलों को गंभीरता से लेने और उनके द्वारा दिए गए निर्देशों का सख्ती से पालन करने को कहा।

सीएम ने जुन्गा स्थित अस्पताल में रिक्त पड़े चिकित्सकों व पैरामेडिकल स्टाफ के पदों को एक दिन में भरने के भी निर्देश दिए।  उन्होंने कहा कि मैहली से जुन्गा तक सड़क को शीघ्र चौड़ा तथा पक्का किया जाएगा, जिसके लिए सरकार द्वारा 50 लाख रुपये का प्रावधान किया गया है। उन्होंने जुन्गा स्थित आईटीआई में दो अतिरिक्त ट्रेड आरम्भ करने को भी स्वीकृति प्रदान की तथा कहा कि क्षेत्र के स्थानीय विधायक विपणन बोर्ड के साथ जुन्गा में उप सब्जी मण्डी खोलने के मामले बारे विचार-विमर्श करेंगे। विधायक अनिरूद्ध सिंह ने सीएम का स्वागत किया।

नीति आयोग करे अपना कामः वीरभद्र

शिमला। लोकसभा और विधानसभा चुनाव एक साथ करवाए जाने को लेकर नीति आयोग द्वारा सुझाव देने पर राजनीति गरमा गई है। इस पर नेता प्रतिपक्ष प्रेम कुमार धूमल ने जहां 2019 में ही दोनों चुनावों को एक साथ करवाने की बात कही है। वहीं, सीएम वीरभद्र सिंह ने इस मुद्दे पर नीति आयोग को ही कठघरे में खड़ा कर दिया है। सीएम ने दो टूक कहा कि यह कार्य नीति आयोग का नहीं है। नीति आयोग के अपना कार्य करना चाहिए। उन्होंने कहा कि नीति आयोग को देश के विकास के लिए नीतियां बनानी चाहिए, जिसमें वह अब तक सफल नहीं रहा है। उन्होंने कहा कि विधानसभा और लोकसभा चुनाव कब होने चाहिए, इसे तय करने का कार्य निर्वाचन आयोग का है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है