Covid-19 Update

59,059
मामले (हिमाचल)
57,473
मरीज ठीक हुए
984
मौत
11,204,179
मामले (भारत)
116,873,133
मामले (दुनिया)

Budget session : सीएम के बोल, Kangra के लिए क्या किया, Credit नहीं लेता

Budget session : सीएम के बोल, Kangra के लिए क्या किया, Credit नहीं लेता

- Advertisement -

शिमला। सीएम वीरभद्र सिंह ने आज विधानसभा में कहा कि कांग्रेस सरकार ने कांगड़ा और निचले इलाकों के लिए क्या किया है, वे इसका क्रेडिट नहीं लेना चाहते। सारी जनता जानती है कि असलियत क्या है। उन्होंने कहा कि धर्मशाला में पहले डीसी,एसपी और कुछ गिने कार्यालय ही होते थे। कांग्रेस सरकार ने स्कूल शिक्षा बोर्ड को धर्मशाला शिफ्ट किया। वहां 99 फीसदी कर्मचारियों को शिफ्ट किया।

  • सीएम का पलटवार, प्रदेश में एकता बनी रहे, इसके लिए सब किया
  • विपक्ष ने झुठलाए सरकार के दावे, कहा झूठ बोल रही सरकार

इसके बाद वहां लोकनिर्माण, बिजली बोर्ड और आईपीएच के चीफ इंजीनियर के कार्यालय खोले। वीरभद्र सिंह ने कहा कि बीजेपी कहती है उनके कार्यकाल में स्कूल शिक्षा बोर्ड का कार्यालय धर्मशाला शिफ्ट हुआ था, पर यह गलत है। राज्यपाल अभिभाषण पर हो रही चर्चा के बीच सीएम वीरभद्र सिंह ने कहा कि हिमाचल में एकता बनी रहे, इसके लिए यह सब किया।

उन्होंने बीजेपी पर तीखा हमला करते हुए कहा कि उनका यह नारा रहा है कि ऊपर के पहाड़, नीचे के पहाड़, बीच के पहाड़ और नया हिमाचल और पुराना हिमाचल। जबकि कांग्रेस ने पूरे राज्य के एक समान विकास के लिए काम किया है और इस दूरी को पाटने को यह कदम उठाए हैं। उन्होंने कहा कि धर्मशाला बड़ा नगर बन गया है और इसलिए यह कदम उठाया और धर्मशाला को दूसरी राजधानी का दर्जा दिया गया है। इससे पहले बीजेपी सदस्य ने रविंद्र रवि ने कहा कि कांग्रेस विधायक संजय रतन और शहरी विकास मंत्री ने सीएम को धर्मशाला में बसने का निमंत्रण दिया है। ऐसे में सुधीर शर्मा को भी अपनी सीट ढूंढनी पड़ेगी। उन्होंने कहा कि राज्य स्कूल शिक्षा बोर्ड 1978 में धर्मशाला गया था और तत्कालीन सीएम शांता कुमार ने इसे शिफ्ट किया था। इससे पहले राज्यपाल के अभिभाषण पर आज सदन में चर्चा शुरू हुई। सीपीएस जगजीवन पाल ने अभिभाषण पर चर्चा शुरू करते हुए बीजेपी पर हमले बोले। उन्होंने नोटबंदी को लेकर बीजेपी पर कटाक्ष किए और इससे बीजेपी सदस्य उखड़ गए और शोर करने लगे।

जगजीवन पाल ने रेनकोट पहनकर नहाने वाले बयान का जिक्र करते हुए बीजेपी पर हमला बोला और कहा कि बीजेपी नेताओं को ऐसे बयान देने पर शर्म आनी चाहिए। उन्होंने कहा कि नोटबंदी कर केंद्र सरकार ने देश की जनता को लाइन में लगा दिया और लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। उन्होंने प्रदेश की कांग्रेस सरकार द्वारा किए गए कार्यों को गिनाया और राज्य में हो रहे विकास का श्रेय सीएम वीरभद्र सिंह को दिया। इस दौरान विपक्षी सदस्य सदन में टीका-टिप्पणी भी करने लगे, लेकिन जगजीवन पाल ने अपना भाषण जारी रखा। उधर, कांग्रेस सदस्य संजय रतन ने चर्चा में हिस्सा लेते हुए कहा कि सीएम वीरभद्र सिंह ने धर्मशाला को प्रदेश की राजधानी बनाया है और उन्होंने ही वहां विधानसभा का शीतकालीन सत्र आरंभ करवाया और विधानसभा बनाई। उन्होंने कहा कि शिक्षा विभाग के अलावा कई और विभाग वहां खोले, हर विभाग के चीफ इंजीनियर वहां बैठते हैं। बीजेपी सदस्य इस पर शोर कर रहे थे…. । रतन ने कहा कि बीजेपी कांगड़ा की हितैषी नहीं है। सीएम वीरभद्र सिंह ने क्षेत्रवाद की खाई को पाटा है और पूरे प्रदेश का एक समान विकास किया है। उन्होंने सरकार से आग्रह किया कि एक हालीलाज धर्मशाला में बनाया जाए और क्षेत्रवाद की खाई को हमेशा के लिए खत्म कर दिया जाए। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने हमेशा ही कांगड़ा के साथ भेदभाव किया है और वे हमेशा क्षेत्रवाद के नाम पर लोगों को गुमराह करते  रहे हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है