×

CM का ऐलानः ग्रांट लेने वाले कॉलेजों की नहीं बढ़ेगी संख्या

CM का ऐलानः ग्रांट लेने वाले कॉलेजों की नहीं बढ़ेगी संख्या

- Advertisement -

सुंदरनगर। सीएम वीरभद्र सिंह ने एक बार फिर साफ किया है कि प्रदेश के निजी कॉलेज अपने बलबूते पर उन्हें चलाएं। एमएलएसएम कॉलेज के वार्षिक समारोह में बतौर मुख्यातिथि पहुंचे वीरभद्र सिंह ने कहा कि जिन कॉलेजों को सरकार की ओर से ग्रांट मिलती है अब सरकार उनकी संख्या नहीं बढ़ाएगी और जिन कॉलेजों को ग्रांट मिलती है सरकार उनकी हरसंभव मदद करेगी। इससे पहले स्थानीय कॉलेज में 135 करोड़ की लागत से बनकर तैयार हुए खेल भवन का सीएम ने उद्घाटन किया और कार्यक्रम के दौरान मेधावी छात्रों को पुरस्कार भी बांटे। वीरभद्र सिंह ने कहा कि प्रदेश कॉलेजों में छात्र संघ चुनान अनुशासनहीनता के चलते ही बंद किए गए हैं।


  • सुंदरनगर में सीएम वीरभद्र सिंह ने कहा, निजी कॉलेज संचालक अपने दम पर चलाए महाविद्यालय

उन्होंने कहा कि कॉलेजों में माहौल पढ़ने के लिए होता है राजनीति करने के लिए नहीं। छात्र यहां पढ़ाई करने आए नेतागिरी करने नहीं। सीएम ने कहा कि प्रदेश सरकार ने गांव-गांव और घरद्वार कॉलेज खोले हैं ताकि कोई भी छात्र शिक्षा से वचिंत न हो सके। उन्होंने कहा कि पहले लड़कियों को पढ़ाई करने के लिए घर से काफी दूर जाना पड़ता था, जिसके चलते कई बार तो उनके परिजन उन्हें पढ़ने के लिए कॉलेज भी नहीं भेजते थे, लेकिन अब ऐसा न हो इसलिए सरकार घर के नजदीक कॉलेज खोल रही है। सीएम ने समारोह के दौरान मेधावी छात्रों को पुरस्कार देकर सम्मानित भी किया।

सीएम ने कहा कि जो विद्यार्थी हुड़दंग आदि गतिविधियों में संलिप्त हैं और अहिंसा फैलाते हैं, के लिए उच्च शिक्षण संस्थानों में कोई भी स्थान नहीं है। उन्होंने कहा कि प्रदेश विश्वविद्यालय के कुलपति को ऐसे विद्यार्थियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के स्पष्ट निर्देश जारी किए गए हैं। ऐसे विद्यार्थी जीवन में कभी भी सफलता प्राप्त नहीं कर सकते और दूसरों के हाथों खेलकर इनका मकसद उपद्रव उत्पन्न करना है। प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के शिक्षण संस्थानों, विशेषकर कालेजों एवं विश्वविद्यालयों में चुनावों पर प्रतिबन्ध लगाया गया है। संघों को सरकारी सम्पदा को नुकसान पहुंचाने का कोई भी अधिकार नहीं है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है