Covid-19 Update

1,42,510
मामले (हिमाचल)
1,04,355
मरीज ठीक हुए
2039
मौत
23,340,938
मामले (भारत)
160,334,125
मामले (दुनिया)
×

वीरभद्र का सिक्सर

वीरभद्र का सिक्सर

- Advertisement -

शिमला। सीएम वीरभद्र सिंह ने राजनीतिक गेंद की दिशा को भांपते हुए जो सिक्सर बेरोजगारी भत्ते के नाम पर मारा हैं, उस सिक्सर की आवाज दूर-दूर तक गूंजती रहेगी। इस आवाज को ना ही तो विपक्ष ना ही कांग्रेस के भीतर बैठे अपने दबा पाएंगे। राजनीति के मैदान में बेरोजगारी भत्ते के नाम पर मारा गया सिक्सर अब विधानसभा चुनावों तक घुमाता रहेगा। कांग्रेस के भीतर से ही उठ रही आवाजों को दबाता हुआ यह सिक्सर निश्चित तौर पर अब सिर चढकर बोलेगा।


राजनीतिक अनुभव ही कह सकते हैं कि वीरभद्र सिंह ने अपनी इस सरकार के अंतिम बजट के दौरान उन राजनीतिक गेंदबाजों को धराशायी कर डाला है जो इस मुद्वे के दम पर विपक्ष की भी लाठी बनने निकले थे। इस बात का आभास तो उस वक्त ही होने लगा था जब प्रदेश कांग्रेस भी इस मुद्वे पर सहमति बनाने बैठ गई थी, पर अहसास किसी को नहीं था कि यह सिक्सर किस वक्त पडेगा। चुनावी वर्ष में चुनावी वादा पूरा कर वीरभद्र सरकार ने बेरोजगारों के लिए जो घोषणा कर दी है उस पर अब विपक्ष अपने तरीके से कुछ भी प्रतिक्रिया देता रहे पर इस राजनीतिक सिक्सर के सामने कुछ दिनों तक टिक नहीं पाएगा। यही नहीं वीरभद्र सिंह ने अपने इस आखिरी कहे जाने वाले बजट में अनुबंध कर्मियों सहित कई वर्गों को लाभान्वित किया हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है