Expand

CM की चेतावनीः ट्रेड यूनियनें बंद करें `उत्पात’

CM की चेतावनीः ट्रेड यूनियनें बंद करें `उत्पात’

- Advertisement -

शिमला। सीएम वीरभद्र ने राजनीतिक लाभ के लिए जल विद्युत परियोजनाओं में काम कर रहे मजदूरों को गुमराह कर हिंसा करवाने वाली ट्रेड यूनियनों को कड़ी चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि राजनीतिक स्वार्थ एवं मान्यता के लिए अवांछित हिंसा को कभी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इससे न केवल जल विद्युत परियोजनाओं के निर्माण में विलंब होता है, बल्कि परियोजना की लागत भी बढ़ती है। साथ ही उन्होंने कहा कि मजदूरों की जायज मांगों को भी पूरा किया जाना चाहिए। उनके देय समय पर प्रदान किए जाने चाहिए। सीएम ने यह बात आज यहां हिमाचल पावर इंजीनियर्ज एसोसिएशन के 25वें आम सम्मेलन में कही। सीएम ने कहा कि ऐसा देखा गया है कि आमतौर पर मजदूर वर्ग बोर्ड, विभाग या निगम की कार्यप्रणाली से नाराज नहीं होते हैं, बल्कि कामगारों को उन ठेकेदारों से शिकायत रहती है, जो समय पर उनका मानदेय अदा नहीं करते हैं। इससे कामगार कार्य रोकने का अवांछित तरीका अपनाने के लिए बाध्य करते हैं। ठेकेदारों को उनके मजदूरों के प्रति स्पष्ट एवं दयालु होना चाहिए। उन्हें प्रबन्धन के विरुद्ध आवाज उठाने व कार्य में बाधा उत्पन्न करने का मौका देने के बजाए उनकी मजदूरी तथा अन्य देय लाभों को समय पर अदा करना चाहिए।

  • cm-3राजनीतिक करने वाली ट्रेड यूनियनों को सीएम की घुड़की 
  • कहा, विद्युत परियोजनाओं में हिंसक गतिविधियों में करने से बाज आएं 

सीएम बोले, प्रायः यह भी देखा गया है कि कुछ  ट्रेड यूनियनें, विशेषकर राज्य के जनजातीय एवं दूरवर्ती क्षेत्रों में राजनीतिक लाभ तथा अपना अस्तित्व बनाए रखने के लिए कामगारों को विद्रोह व हड़ताल के लिए उकसाती हैं। ऐसा किसी भी हाल में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। सरकार इन शरारती तत्वों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई करेगी। मजदूरों को भड़काने वाले ऐसे तत्व जहां कहीं पर भी हो, सख्ती से निपटा जाएगा। ऐसे लोगों के कारण किन्नौर, चम्बा तथा अन्य दूरदराज के क्षेत्रों की जल विद्युत परियोजनाओं को अनेक कठिनाइयों का सामना करना पड़ता हैं। उन्होंने ट्रेड यूनियनों से स्थानीय लोगों की समस्याओं के समाधान के लिए काम करना चाहिए।

cm-1वांगतू में जारी होंगे इन्नर लाइन परमिट
सीएम ने कहा कि जनजातीय जिला किन्नौर के साथ अन्तरराष्ट्रीय सीमा लगती है। इसके दृष्टिगत राज्य सरकार ने देश तथा राज्य हित में अवांछित तत्वों पर निगरानी के लिए इन्नर लाइन परमिट जारी करने के लिए किन्नौर जिला के वांगतू में एक चेक पोस्ट खोलने का निर्णय लिया है। सीएण ने सावड़ा-कुडडू (111 मेगावाट), 195 मेगावाट काशंग जल विद्युत परियोजना व 100 मैगावाट की सैंज परियोजनाओं के पूरा करने में अनावश्यक विलम्ब पर चिंता जाहिर की। उन्होंने निर्माणाधीन जल विद्युत परियोजनाओं को समय पर पूरा करने के निर्देश दिए। सीएम ने हि.प्र. पावर इंजीनियर्स एसोसिएशन के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि एसोसिएशन पावर प्रणाली में आधुनिक तकनीक को अपना कर राज्य में बिजली उपयोगिता को देश भर में श्रेष्ठ बनाने की दिशा में बेहतरीन कर रही है।

राज्य युवा कांग्रेस के अध्यक्ष विक्रमादित्य सिंह, हिमाचल प्रदेश विद्युत नियामक आयोग के अध्यक्ष एसके बीएस नेगी, एचपीएसईबीएल के प्रबन्धक निदेशक पीसी नेगी, हिप्र ट्रांसमिशन निगम लिमिटेड इंजीनियर जेपी कालटा, हि.प्र. विद्युत निगम लिमिटेड के प्रबन्धक निदेशक डीके शर्मा ऑल इंडिया पावर इंजीनियरज निगम के प्रतिनिधि और राज्य भर से आए इंजीनियर भी यहां मौजूद थे।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है