Covid-19 Update

1,42,510
मामले (हिमाचल)
1,04,355
मरीज ठीक हुए
2039
मौत
23,340,938
मामले (भारत)
160,334,125
मामले (दुनिया)
×

गर्मी लगे तो कुछ ठंडा हो जाए …

गर्मी लगे तो कुछ ठंडा हो जाए …

- Advertisement -

गर्मियों में खान-पान पर विशेष ध्यान देने की जरूरत होती है। क्यों कि गर्मी के दिनों में पसीना अधिक आने के कारण शरीर से जरूरी मिनरल निकल जाते हैं। डिहाइड्रेशन की समस्या न हो इसलिए डाक्टर हमें पानी और पेय पदार्थों का सेवन करने की सलाह देते है। तो इन गर्मियों में आजमाएं ऐसे ही कुछ हेल्दी ड्रिंक जिनका सेवन कर आप स्वस्थ रहने के साथ गर्मी की तपिश को भी आसानी से दूर कर सकेंगे।


  • नींबू पानी भारत का पारंपरिक पेय पदार्थ है। गर्मियों में नींबू पानी प्यास बुझाने के साथ-साथ बार बार-बार जी मिचलाने और अजीर्ण रोग में रामबाण औषधि के रूप में काम करता है।
  • सत्तू पेट की गर्मी को शांत करता है इसलिए इसे ‘स्टबमक कूलेंट’ भी कहते है। यूं तो बाजार में सत्तू उपलब्धा होता है। लेकिन आप इसे स्वतयं घर पर भी बना सकते हैं।
  • गर्मी में पुदीना बहुत फायदेमंद होता है। इसमें प्राकृतिक रूप से पिपरमेंट होता है। यह लू, बुखार, जलन, उल्टी और गैस की समस्याओं में काफी लाभ पहुंचाता है। इसको आसानी से तैयार किया जा सकता है।

  • आप गर्मी को दूर करने के लिए ठंडाई का सेवन कर सकते हैं। बाजार में बने बनाए ठंडाई के कई फ्लेवर उपलब्ध हैं। बस जरूरत है दूध और चीनी की।
  • शरबत गर्मी को दूर करने के साथ अतिसार, पेचिश और रक्तविकार वाले लोगों के लिए काफी फायदेमंद होता है। इसके अलावा अल्सर से पीड़ित लोगों और मोटापा कम करने के लिए यह शर्बत अत्यंत गुणकारी साबित होता है। इसका शरबत हर किसी को पसंद आता है।
  • फलों का जूस पीने से गर्मियों में तुरंत एनर्जी आ जाती है। इसके लिए आप मौसमी, संतरा, खरबूजा और सेब का इस्तेनमाल कर सकते है। बिना चीनी के जूस पीना ज्याेदा फायदेमंद होता है क्योंइकि फलों में प्राकृतिक मिठास पहले से ही मौजूद होती है। फलों का जूस आप खाने के पहले या बाद में कभी भी पी सकते हैं।

  • तरबूज का जूस प्यास बुझाने के साथ-साथ ताजगी भी देता है। एंटी ऑक्सीडेंट्स और पोटेशियम से भरपूर तरबूज हृदय, कैंसर और डायबिटीज से रक्षा करता है।
  • गर्मियों के लिए छाछ अमृत के समान होती है। आयुर्वेद में भोजन के बाद छाछ पीना स्वास्थ्य के लिए अच्छा माना जाता है। खाने के साथ इसे लेने से पाचन अच्छा बना रहता है। साथ में यह आसानी से पच भी जाती है। इसको बनाने के लिए आपको दही, भूना हुआ जीरा पाउडर, पुदीना पाउडर, हींग, काला नमक और ठंडे पानी की जरूरत होती है। एक कप दही लेकर उसे फैट लें फिर उसमें एक कप ठंडा पानी और सभी मसाले डालकर मिलाएं।
  • यह कच्चे आम को भून कर बनाया जाता है। इसे पीने से लू नहीं लगती। इसमें विटामिन सी बहुत अधिक मात्रा में पाया जाता है। इसको बनाने के लिए कच्चें आम को भून कर मैश करके पानी में मिला लें।

नाड़ियों के लिए पौष्टिक ब्राह्मी

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है