Covid-19 Update

58,877
मामले (हिमाचल)
57,386
मरीज ठीक हुए
983
मौत
11,156,748
मामले (भारत)
115,765,405
मामले (दुनिया)

खनन माफिया, माइनिंग डिपार्टमेंट में सांठगांठ का इशारा कर गए बीजेपी के यह MLA

खनन माफिया, माइनिंग डिपार्टमेंट में सांठगांठ का इशारा कर गए बीजेपी के यह MLA

- Advertisement -

ऊना। हिमाचल प्रदेश विधानसभा की जन प्रशासन समिति ने आज ऊना जिला का दौरा किया, समिति सदस्यों ने ऊना के विभिन्न स्थानों पर जाकर सरकारी योजनाओं का जायजा लिया और सभी विभागों के अधिकारियों की बैठक भी ली। बैठक में समिति के अध्यक्ष विधायक राकेश पठानिया ने अधिकारियों की जमकर क्लास लगाई।

पठानिया ने ऊना में अवैध और अवैज्ञानिक खनन को लेकर माइनिंग ऑफिसर को लताड़ा, वहीं केंद्र और प्रदेश सरकार की अन्य योजनाओं में ढिलाई बरतने वाले अधिकारियों को सरकारी योजनाओं को आम लोगों तक लाभ पहुंचाने का पाठ पढ़ाया। पठानिया ने अवैध खनन और बढ़ते नशे पर लगाम लगाने के प्रति प्रतिबद्धता व्यक्त की। उन्होंने खनन माफिया और खनन विभाग में सांठगांठ की शंका भी जाहिर की।

ऊना पहुंची विधानसभा की जन प्रशासन समिति ने हिमाचल प्रदेश विधानसभा की जन प्रशासन समिति ने ऊना में सभी विभाग के अधिकारियों की संयुक्त मीटिंग ली, जिसमें समिति अध्यक्ष विधायक राकेश पठानिया गंभीरता से काम नहीं कर रहे अधिकारियों पर जमकर बरसे। बैठक में समिति के सदस्य विधायक डॉ. कर्नल धनी राम शांडिल, इंद्रदत्त लखनपाल, जिया लाल, पवन नैयर और परमजीत भी शामिल थे।

समिति ने सभी विभागीय अधिकारियों से ऊना जिला में चल रहे विकास कार्यों की फीडबैक ली और जनहित में इन कार्यों को जल्द पूरा करने के निर्देश भी दिए। समिति ने इन कार्यों पर बेहतरी के अपने ज़रूरी सुझाव और दिशा निर्देश भी दिए। समिति अध्यक्ष राकेश पठानिया ने अवैध व अवैज्ञानिक खनन की गतिविधियों को रोकने के लिए अधिकारियों से कडे़ कदम उठाने तथा उन लोगों को दंडित करने पर जोर दिया जिनकी जेसीबी, पॉकलैंड, टिप्पर इत्यादि खनन गतिविधियों में बडे़ पैमाने पर इस्तेमाल की जा रही है।

अधिकारी महज ट्रैक्टर या मजदूरों को पकड़ने तक ही सीमित न रहें। जिला में खनन गतिविधियों के दौरान डंपिंग पर भी कड़ी नाराजगी व्यक्त की तथा अधिकारियों को डंपिंग रेत को नष्ट करती बार लोक निर्माण विभाग के सहयोग से इसे पंचायतों को उपलब्ध करवाने को भी कहा ताकि मनरेगा सहित अन्य ग्रामीण विकास कार्यों पर इसका इस्तेमाल किया जा सके। उन्होंने कहा कि अवैध व अवैज्ञानिक खनन के कारण जहां प्रदेश को बहुत बडे़ राजस्व की चपत लग रही है तो वहीं पर्यावरण भी प्रभावित हो रहा है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है