×

सोशल मीडिया पर टिप्पणियों से भड़की पीसीसी, जांच को कमेटी गठित 

सोशल मीडिया पर टिप्पणियों से भड़की पीसीसी, जांच को कमेटी गठित 

- Advertisement -

शिमला। लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) में मिली करारी हार के बाद सोशल मीडिया (Social Media) पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं पर की जा रही टिप्पणियों पर प्रदेश कांग्रेस (Congress) ने कड़ा रुख अपनाया है। इसकी जांच के लिए एक चार सदस्यों की टीम गठित की है। पार्टी अध्यक्ष के राजनीतिक सचिव हरि कृष्ण हिमराल, प्रेस सचिव बलदेव ठाकुर, सोशल मीडिया के संयोजक राजेंद्र शर्मा व राजेंद्र वर्मा को जांच का जिम्मा सौंपा गया है।


यह भी पढ़ें: पिस्तौल दिखाकर पहले टीचर से की मारपीट फिर लूटा, गाड़ी की चाबी भी ले गए बदमाश

कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष ने एक हफ्ते में रिपोर्ट (Report) देने को कहा है। इसके बाद गुण दोष के आधार पर कार्रवाई की जाएगी। कमेटी मामलों की पड़ताल कर उन पार्टी कार्यकर्ताओं का पूरा इतिहास जानेगी, जो इसमें शामिल पाएं जाएंगे। कमेटी (Committee) इस बात की भी जांच करेंगी कि यह सब किस के इशारे पर किया जा रहा है और इसके पीछे कोई नेता या पार्टी पदाधिकारी तो नहीं है।


प्रदेश कांग्रेस ने सोशल मीडिया पर टिप्पणियों को अनुशासनहीनता माना

बता दें कि प्रदेश कांग्रेस ने सोशल मीडिया में पार्टी के नेताओं (Party Leader) के खिलाफ तल्ख टिप्पणियों (Comments) को गंभीरता से लेते हुए इसे पार्टी की अनुशासनहीनता माना हैं। पार्टी का कहना है कि इसे किसी भी स्तर पर सहन नहीं किया जाएगा। प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने सोशल मीडिया में एक वर्ग द्वारा पार्टी के नेताओं के खिलाफ अभद्र टिप्पणीयों पर कड़ा संज्ञान लेते हुए इसे तुरंत बंद करने को कहा हैं।

यह भी पढ़ें:  धोखाधड़ीः दस हजार का चेक बना दिया एक लाख 10 हजार का, केस

इस संदर्भ में उन्होंने चुनाव के बाद सोशल मीडिया में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के खिलाफ तल्ख व अभद्र टिप्पणियों पर अपनी नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि यह किसी भी स्तर पर सहन नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा है कि पार्टी के भीतर अनुशासनहीनता किसी भी स्तर पर सहन नहीं होगी चाहे वह कितना भी प्रभावशाली क्यों न हो। हरि कृष्ण हिमराल ने बताया कि पार्टी ने पिछले कुछ दिनों में कुछ कार्यकर्ताओं द्वारा मीडिया में पार्टी के नेताओं के खिलाफ तल्ख टिप्पणियों का कड़ा नोटिस लिया है। उन्हें इस संदर्भ में उन कार्यकर्ताओं को चेताया भी था। चूंकि अब प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर (Kuldeep Singh Rathore) ने इसकी जांच का जिम्मा उन्हें सौंपा है तो इस पूरे मसले की जांच बारीकी से शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ेंः सिरमौरः कुजियाट माता का मंदिर जला, एक साल पहले ही हुआ था तैयार

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है