Covid-19 Update

2,00,043
मामले (हिमाचल)
1,93,428
मरीज ठीक हुए
3,413
मौत
29,821,028
मामले (भारत)
178,386,378
मामले (दुनिया)
×

शिलान्यास के एक साल बाद भी शुरू नहीं हुआ काम, गद्दी समुदाय में गहरा रोष

शिलान्यास के एक साल बाद भी शुरू नहीं हुआ काम, गद्दी समुदाय में गहरा रोष

- Advertisement -

ऋषि महाजन, नूरपुर। एक साल पहले 2 करोड़ की लागत से बनने वाले हिमाचल गददी जनजातीय सामुदायिक भवन का शिलान्यास होने के बाद भी अब तक कार्य शुरू नहीं हो पाया है। जिसको लेकर गद्दी समुदाय में गहरा रोष है। गद्दी समुदाय ने सरकार से मांग की है कि उक्त भवन का कार्य अतिशीघ्र शुरू किया जाए।

हिमाचल गद्दी संस्कृति एवं विकास मंच इकाई जसूर एडाक कमेटी के अध्यक्ष मेघनाथ चौहान ने शनिवार को गुरचाल व् डन्नी में हुई मंच की बैठक में कहा कि जनजातीय वर्ग के लोगों को ठहरने के लिए एक भवन बनने की योजना प्रस्तावित थी। इसके लिए पांच कनाल भूमि भी उक्त भवन के लिए नामित थी और इसकी 25 लाख की पहली किश्त भी लोनिवि के पास पहुंच गई थी। वाबजूद इसके लगभग एक साल के बाद भी उक्त भवन का कार्य ही शुरू नहीं हो सका है। गददी विकास मंच के सभी सदस्यों ने सरकार से मांग करते हुए कहा कि उक्त भवन का कार्य शीघ्र शुरू किया जाए ताकि उक्त वर्ग को जल्दी से जल्दी उक्त भवन की सुविधा का लाभ मिल सके।


पंचायत स्तर की कमेटियों का किया गठन

इस मौके पर हिमाचल गददी संस्कृति एवं विकास मंच एडाक कमेटी नूरपुर की अध्यक्षता में पंचायत स्तर की कमेटियों का गठन किया। जिसमें गुरचाल से खुशवंत चौहान को प्रधान, अश्वनी को उपप्रधान, छांगू राम को सचिव, राजकुमार को कोषाध्यक्ष, प्रकाश चंद को मुख्य सलाहकार तथा रत्न चंद, गगन सिंह, राकेश कुमार, टेक चंद, बाबू राम, नीना देवी को कार्यकारिणी का सदस्य नियुक्त किया गया। वहीँ डन्नी से संतोख सिंह को प्रधान, जयकरण को उपप्रधान, कुलदीप कुमार को सचिव, सुनील कुमार को कोषाध्यक्ष, किशन चंद को मुख्य सलाहकार तथा सावित्री देवी, रज्जू देवी, जयकरण व् सूधो देवी को कार्यकारिणी सदस्य नियुक्त किया गया। मेघनाथ चौहान ने कहा कि उक्त मंच गैर राजनीतिक मंच है जोकि समुदाय के हितों की रक्षा के लिए तत्पर है। नूरपुर विधानसभा की प्रत्येक पंचायत में कमेटियों का गठन किया जा रहा है और उसके बाद ब्लाक स्तर पर कार्यकारिणी का चुनाव किया जाएगा और उक्त मंच के माध्यम से जनजातीय वर्ग की समस्याओं को सरकार के समक्ष जोरदार ढंग से रखकर उन्हें हल करवाना ही मंच का मुख्य उदेश्य है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है