Expand

एमएलए घोषणा पूरी न कर पाई, 420 का मामला दर्ज कराने पहुंचा शख्स

एमएलए घोषणा पूरी न कर पाई, 420 का मामला दर्ज कराने पहुंचा शख्स

- Advertisement -

धर्मशाला। विधायक ने की घोषणा और वह पूरी नहीं हो पाई। घोषणा पूरी न हो पाने गुस्साए एक व्यक्ति ने विधायक के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज करने की मांग एसपी से कर डाली। जी हां यह मामला शाहपुर विधानसभा क्षेत्र में सामने आया है। यहां पर विधायक सरवीन चौधरी मेला कमेटी को दो लाख रुपये देने की घोषणा पूरी नहीं कर पाई तो उक्त व्यक्ति ने एसपी कांगड़ा को शिकायत पत्र सौंप मामला दर्ज करने की गुहार लगाई। ऐसा कभी शायद ही हुआ होगा कि किसी नेता ने कोई घोषणा की हो और वह पूरी न होने पर उस नेता के खिलाफ धोखाधड़ी की शिकायत दर्ज करवाने की पहल की गई हो। यह शिकायत सरवीण के खास सिपहसलार रहे और कल्याड़ा पंचायत के पूर्व प्रधान बलबीर चौधरी ने अपने साथियों संग मिलकर की है। एसपी को प्रेषित शिकायत पत्र में कहा गया है कि कल्याड़ा में 16 मार्च 2016 को वार्षिक छिंज मेले के दौरान, विधायक सरवीण चौधरी ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की थी। अपने भाषण के दौरान सरवीण चौधरी ने मेला कमेटी को दो लाख रुपये देने की भी घोषणा की थी। लेकिन, अब तक मेला कमेटी को न तो विधायक द्वारा नकद राशि दी गई और न ही मेला कमेटी के खाते में कोई राशि आई है। विधायक के समर्थक यह अफवाह फैला रहे हैं कि मेला कमेटी और ग्राम पंचायत प्रधान ने यह राशि हड़प ली है। शिकायत पत्र में कहा गया है कि इस दुष्प्रचार से मेला कमेटी और पंचायत प्रतिनिधियों की बदनामी हो रही है। वहीं, इस तरह की झूठी घोषणा से जनता भी आहत हुई है। बलबीर चौधरी ने मांग की है कि मामले की जांच करके विधायक सरवीण चौधरी के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया जाए। police123

  • पूर्व प्रधान ने अपने साथियों सहित एसपी को सौंपी कंप्लेंट
  • घोषणा पूरी न किए जाने पर एमएलए के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज कर की मांग

2 नहीं नौ लाख रुपए दिएः सरवीण

मेला कमेटी प्रधान और पंचायत प्रधान द्वारा लगाए गए धोखाधड़ी के आरोप पर विधायक सरवीण चौधरी का कहना है कि आरोप लगाने वाले बलबीर चौधरी को कमीशन खाने की आदत है, उन्हें तो यह भी पता नहीं है कि मैंने दो लाख नहीं, बल्कि 9 लाख देने की घोषणा की थी, जिस मेले की बात बलबीर चौधरी ने की है वह अकेले कल्याड़ा पंचायत का मेला नहीं है, बल्कि बंडी और नागनपट्ट पंचायतें भी उसमें बराबर की भागीदार हैं। अपनी घोषणा के मुताबिक मैंने 2 लाख बंडी में, दो लाख कल्याड़ा में और तीन लाख रुपये नागनपट्ट पंचायत को दे दिए और शेष तीन लाख रुपये मेला कमेटी को मंच और अन्य सुविधाओं के लिए दिए हैं। इस सारे पैसे का रिकॉर्ड मौजूद है। लेकिन, बलबीर चौधरी के हाथ में राशि नहीं पहुंची और उसे कमीशन खाने को नहीं मिली, इसलिए बौखलाहट में वह ऐसे आरोप लगा रहे हैं।

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है