×

बे-बस यात्री : हड़ताल पर कन्फ्यूजन, ऊना और कई जिलों में प्रायवेट बसें नहीं चलीं

बे-बस यात्री : हड़ताल पर कन्फ्यूजन, ऊना और कई जिलों में प्रायवेट बसें नहीं चलीं

- Advertisement -

ऊना/हमीरपुर/मंडी। सीएम जयराम ठाकुर के आश्वासन के बाद हड़ताल खत्म करने को राजी हुए प्रायवेट बस ऑपरेटरों ने मंगलवार को भी अपनी हड़ताल जारी रखी है। ऑपरेटर्स यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष राजेश पराशर ने हिमाचल अभीअभी से कहा, ‘हड़ताल जारी है। सीएम ने आज शाम मंडी के सर्किट हाऊस में बैठक के लिए बुलाया है। जब बातचीत हो जाएगी और मीडिया में आ जाएगा, तभी हड़ताल खत्म होगी।’


पराशर ने साफ कहा कि इससे पहले भी सीएम के आश्वासन के बाद एसोसिएशन ने 21 जून को हड़ताल वापस ले ली थी। लेकिन उसके बाद 15 कैबिनेट मीटिंग हो चुकी है, लेकिन मसले का हल नहीं निकला। उन्होंने कहा कि जब तक प्रायवेट बस ऑपरेटरों की मांगों की पूरा समाधान नहीं हो जाता, तब तक बसों की हड़ताल जारी रहेगी। हमीरपुर प्राइवेट बस यूनियन के जिला प्रधान नरेश कुमार ने कहा कि शिमला में मुख्यमंत्री से बात जरूर हुई है, लेकिन केवल आश्वासन ही मिला है। कोई ठोस निर्णय नहीं हुआ। इसलिए हमीरपुर में प्रायवेट बसों की हड़ताल जारी है।

एसोसिएशन एक, बयान अलग-अलग

आपको बता दें कि सोमवार देर शाम एसोसिएशन के प्रदेश महासचिव रमेश कमल ने बयान दिया था कि सीएम जयराम ठाकुर के आश्वासन के बाद ऑपरेटरों ने हड़ताल स्थगित कर दी है।उन्होंने यह भी कहा था कि सरकार ने ऑपरेटरों के किराया बढ़ाने की मांग को मान लिया है। सरकार इस पर कैबिनेट में चर्चा करेगी। किराया कितना बढ़ाया जाए, इस पर बस ऑपरेटर यूनियन के प्रतिनिधियों से मुलाकात के बाद ही फैसला लिया जाएगा।

परेशान रहे बे-बस यात्री

मंगलवार सुबह यात्रियों को बस हड़ताल खत्म होने और बसें मिलने की उम्मीद थी। लेकिन हमीरपुर, नालागढ़, ऊना और मंडी सहित कुछ और जिलों में प्रायवेट बसों के पहिए थमे रहे। एक ओर जहां एचआरटीसी की बसों में पैर रखने को जगह नहीं है, वहीं प्रदेश के 4000 रुट्स पर HRTC की 3200 बसें अब नाकाफी हो रही हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है