Covid-19 Update

58,645
मामले (हिमाचल)
57,332
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,112,241
मामले (भारत)
114,689,260
मामले (दुनिया)

Congress बोली,100 दिनों में Roadmap नहीं बना पाई अहम मसलों पर Backfoot पर आई Jai Ram सरकार

Congress बोली,100 दिनों में Roadmap नहीं बना पाई अहम मसलों पर Backfoot पर आई Jai Ram सरकार

- Advertisement -

शिमला। प्रदेश Congress ने Jai Ram सरकार के 100 Days पूरा होने पर तंज कसते हुए कहा है कि सरकार ने सौ दिन के कार्यकाल में कर्ज लेने का ही रिकार्ड कायम किया है। सरकार की कोई बड़ी उपलब्धि नहीं रही। अहम मुद्दों पर Backfoot पर आई सरकार अपना Roadmap तक तय नहीं कर पाई है। विपक्ष में रहते बीजेपी प्रदेश की पूर्व कांग्रेस सरकार पर कर्ज लेने को लेकर निशाना साधती थी, लेकिन अब सौ दिन में खुद Jai Ram Government ने एक हजार करोड़ रुपये का लोन लेकर इस मामले में खुद को नंबर वन बना डाला है।

सरकार सत्ता में आने के बाद किसानों, बागवानों, बेरोजगारों के लिए नीति बनाने और भ्रष्टाचारियों पर लगाम कसने में नाकाम रही है। खनन माफिया के हौसले बुलंद हैं और अवैध खनन जोरों पर चल रहा है। प्रदेश कांग्रेस मीडिया विभाग के चेयरमैन नरेश चौहान ने कहा कि सरकार की सौ दिन की सबसे बड़ी उपलब्धि बीस हजार कर्मचारियों के तबादले करना है। दूसरी बड़ी उपलब्धि कर्ज लेना, तीसरी कानून व्यवस्था बदहाल होना और चौथी खनन माफिया को संरक्षण है।

कानून व्यवस्था पटरी से उतरी, केंद्र से भी नहीं मिली कोई विशेष वित्तीय मदद

कांग्रेस के सत्ता में रहते पूर्व सीएम प्रेम कुमार धूमल रूसा प्रणाली को खत्म करने का दम हर मंच से भरते थे, लेकिन बीजेपी सरकार ने सत्ता में आते ही उस पर यूटर्न मार दिया। इस पर सरकार ने अपना स्टैंड बदलते हुए रूसा को संशोधनों के साथ जारी रखने का निर्णय लिया है। कांग्रेस ने सीएम जयराम से पूछा है कि केंद्र की BJP सरकार से कितनी विशेष वित्तीय मदद अब तक मिली है। विपक्ष में रहते BJP केंद्र से मदद लाने को लेकर बड़े-बड़े दावे करती थी।

सरकार को यह भी बताना होगा कि खर्चे कम करने के लिए कौन से कदम उठाए गए हैं। उन्होंने कहा कि जयराम सरकार को कानून व्यवस्था पर ध्यान देने की जरूरत है। चूंकि, प्रदेश में इसका दिवाला नहीं निकल चुका है। प्रदेश की जनता इस बात को लेकर असमंजस में है कि सरकार किस रोडमैप पर आगे बढ़ेगी। इसके पीछे सबसे बड़ा कारण अभी तक सीएम जयराम ठाकुर का जनता को यह बताने में नाकाम रहना भी है। बीजेपी शासन के तीन महीने में ही हर वर्ग की आस सरकार से टूट चुकी है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है