Covid-19 Update

2,00,085
मामले (हिमाचल)
1,93,830
मरीज ठीक हुए
3,418
मौत
29,823,546
मामले (भारत)
178,657,875
मामले (दुनिया)
×

मध्य प्रदेश में बिगड़ा कांग्रेस का खेल, साध्वी के सामने दिग्गी राजा फेल

मध्य प्रदेश में बिगड़ा कांग्रेस का खेल, साध्वी के सामने दिग्गी राजा फेल

- Advertisement -

भोपाल। लोकसभा चुनाव में भोपाल लोकसभा सीट (Bhopal Loksabha Seat) पर माहौल गरम हुआ उतना शायद ही किसी और सीट पर हुआ हो। बीजेपी का गढ़ कही सीट पर मालेगांव (Malegaon) बम ब्लास्ट की आरोपी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर (Sadhvi Pragya Singh Thakur) ने मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) को बुरी तरह से पछाड़ते हुए विजयी बढ़त हासिल कर ली है। जीत की आधिकारिक सूचना मिलना अभी बाकी है मगर साध्वी,भोपाल का संसद में प्रतिनिधित्व करेंगी इस पर कोई संदेह नहीं है। साध्वी ने इस जीत पर कहा की लोगों ने उन पर विश्वास कर के धर्म को जीत दिलाई है। गौरतलब है कि साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) द्वारा क्लीन चिट दिए जाने के बाद जमानत पर बाहर हैं। अदालत ने हालांकि मालेगांव विस्फोट मामले में उसके खिलाफ मामला बंद करने से इनकार कर दिया था।

यह भी पढ़ें :-नतीजों से लगा सदमा: कांग्रेस जिलाध्यक्ष की मतगणना केंद्र पर हार्ट अटैक से मौत

भोपाल से दिग्विजय सिंह को नामित करने का फैसला कांग्रेस ने क्यों लिया, इस पर हर किसी की अलग राय है। लोगों ने यह भी कहा कि यह पार्टी की आंतरिक प्रतिद्वंद्विता का परिणाम था। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) और दिग्विजय सिंह को राज्य में पार्टी संगठन पर प्रभुत्व के लिए प्रतिद्वंद्वी कहा जाता है। हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) में भाजपा के 15 साल के शासन के बाद कांग्रेस वापस सत्ता में आई थी। अटकलें लगाई जा रहीं थी कि लोकसभा चुनाव में इससे पार्टी को फायदा होगा मगर हुआ इसका ठीक उल्टा। रुझानों में भाजपा राज्य की 29 में से 28 सीटों पर बढ़त बनाये हुए है। कांग्रेस अपनी पारम्परिक ग्वालियर (Gwalior) भी 70,000 से ज़्यादा वोटों से पिछड़ चुकी है।


आपको बता दें कि साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर चुनाव के दौरान अपने विवादित बयानों से हमेशा चर्चा में बनी रहीं, फिर चाहे वो हेमंत करकरे (Hemant Karkare) की शाहदत का अपमान हो या फिर नाथूराम गोडसे (Nathuram Godse) को देशभक्त कहने का मामला। इसके चलते उन्हें बार-बार सार्वजानिक तौर पर सामने आके माफ़ी भी मांगनी पड़ी। पीएम नरेंद्र मोदी ने साध्वी के बयानों पर यह तक कह दिया कि वह शायद ही कभी उन्हें माफ़ कर पाएं।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है