×

Dhumal का अटैकः Congress के चार सालों में मात्र 39 करोड़ बढ़ा मुनाफा

Dhumal का अटैकः Congress के चार सालों में मात्र 39 करोड़ बढ़ा मुनाफा

- Advertisement -

हमीरपुर। भ्रष्टाचार व कुशासन से प्रदेश विकास में लगातार पिछड़ रहा है, यह बीजेपी का केवल मात्र आरोप नहीं है, आंकड़ों के माध्यम से इसकी सत्यता सिद्ध होती है। वर्ष 2008-09 में बीजेपी सरकार ने अपना प्रथम बजट प्रस्तुत किया था। तब कमाई के अपने साधनों से प्रदेश का कुल राजस्व 2300 करोड़ रुपये था। चार वर्षों के पश्चात वर्ष 2011-12 में कर राजस्व 7430 करोड़ रुपये पहुंच गया था, जो चार वर्षों की अवधि में 5130 करोड़ रुपये की वृद्धि थी। कांग्रेस सरकार के चार वर्षों के कार्यकाल में अपनी कमाई के साधनों से राजस्व में यह वृद्धि केवल 39 करोड़ रुपये है।


  • बोले, 2016-2017 के बजट में खुली प्रदेश सरकार की पोल
  • बीजेपी सरकार के समय 7430 करोड़ पहुंच गया था मुनाफा
  •  कांग्रेस नेताओं का सरकार रिपीट के दावे करना हास्यास्पद

वर्ष 2016-17 के लिए प्रस्तुत बजट में प्रदेश की अपने साधनों से एकत्रित राजस्व मात्र 7469 करोड़ रुपये दर्शाया गया है, जो प्रदेश सरकार के दावों की पोल खोलने के लिए पर्याप्त है।   इस अवधि में केवल ऋणों में वृद्धि हुई है।   यह बात यहां जारी एक प्रेस बयान में पूर्व सीएम प्रेम कुमार धूमल ने कही।

धूमल ने कहा कि केवल चुनावी राजनीति को ध्यान में रखकर जगह-2 प्रशासकीय कार्यालय व शिक्षण संस्थान खोलने की घोषणा से बीजेपी को कोई आपत्ति नहीं है। पर बिना बजट के, बिना कर्मचारियों की भर्ती के व आधारभूत संरचनाओं को खड़ा किए बिना जनता की भावनाओं से खिलवाड़ किया जा रहा है, यह निश्चित रूप से बीजेपी की चिंता का विषय है। एक तरफ तो प्रदेश में नियमित कर्मचारियों की संख्या में दिनोंदिन कमी हो रही है, वहीं दूसरी तरफ इस तरह की झूठी घोषणाएं सरकार को कटघरे में खड़ा कर रही हैं। हालात यहां तक खराब हो चुके हैं कि शिक्षण संस्थान तो खोले जा रहे हैं पर अध्यापक व गैर अध्यापक स्टाफ नहीं है। नए घोषित प्रशासकीय कार्यालयों में अधिकारी नहीं हैं। एक-2 अधिकारी को तीन-2 जगह का कार्यभार सौंपा गया है। इससे न तो अधिकारी काम कर पा रहे हैं, न ही जनता खुश है। पूर्व सीएम एवं नेता प्रतिपक्ष प्रेम कुमार धूमल ने कहा कि गत चार वर्षों में कांग्रेस सरकार के कुशासन, कुप्रबन्धन व भ्रष्टाचार को देखते हुए प्रदेश की जनता को अंतिम एक वर्ष व्यतीत करना मुश्किल हो रहा है। ऐसे में कांग्रेस नेताओं का सरकार को रिपीट करने के दावे करना न केवल हास्यास्पद है, बल्कि जनता की भावनाओं पर कुठाराघात है। मात्र चार वर्षों में ही प्रदेश का बंटाधार करने वाली कांग्रेस सरकार को एक वर्ष भी और देना जनता के साथ अन्याय ही होगा।

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है